Lucknow News: फोरलेन फ्लाई ओवर सहित राजधानी को मिली 280 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात

शुक्रवार को राजधानी लखनऊ को 280 करोड़ रुपए की सौगात मिली. (Twitter)

शुक्रवार को राजधानी लखनऊ को 280 करोड़ रुपए की सौगात मिली. (Twitter)

सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में आज उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ को 280 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात मिली. रिंग रोड, फोरलेन फ्लाई ओवर, रिंग रोड पर फ्लाईओवर का केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने किया.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अब रिंग रोड पर जाम के झाम से नहीं जूझना होगा. योगी सरकार ने शुक्रवार को रिंग रोड पर चार लेन फ्लाईओवर समेत लखनऊ के लोगों को 280 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की अध्‍यक्षता में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने रिंग रोड पर नए फ्लाई ओवर का लोकार्पण करने के साथ खुर्रम नगर में नए चार लेन फ्लाई ओवर का शिलान्‍यास भी किया.

इस मौके पर सीएम योगी ने प्रधानमंत्री का आभार व्‍यक्‍त करते हुए रक्षा मंत्री और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री को धन्‍यवाद दिया. सीएम योगी ने कहा कि हम सब जानते हैं कि 2014 में देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेते ही प्रधानमंत्री मोदी जी ने एक ही संकल्प लिया था और वह विकास का था. इस देश को विकास की उन ऊंचाइयों तक पहुंचाने का जहां पर वह प्रत्येक नागरिक के जीवन में नया परिवर्तन ला सकें. हमें प्रसन्नता है कि जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में चाहे वह लोक कल्याण से जुड़ी हुई गरीब कल्याण की योजनाएं हों, चाहे वह बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट से जुड़े हुए हाईवे, रेलवे, एयरपोर्ट निर्माण से जुड़ी परियोजनाएं हो या फिर अंतरराष्ट्रीय मानक से जुड़े हुए संस्थान.

मुझे प्रसन्नता है कि आज जिस फ्लाईओवर का लोकार्पण हो रहा है वह यहां पर लखनऊ की यातायात के लिए बहुत बहुत बड़ी समस्या का समाधान करेगा. लोगों के आवा आगमन को सरल और सहज बनाएगा. एक नए फ्लाईओवर का भी शिलान्यास हो रहा है जिसके बनने से आम जनजीवन के दिन प्रतिदिन के घटित होने वाली घटनाओं और समस्याओं से उन्हें मुक्ति प्राप्त होगी.

सीएम योगी ने कहा कि रक्षा मंत्री जी के आग्रह पर गडकरी जी ने जिन परियोजनाओं की घोषणा की है. ख़ास तौर से लखनऊ कानपुर के बीच में ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे बहुत प्रतीक्षित था. यह प्रदेश के इन दो उभरते हुए महानगरों के जीवन को बदलेगा. जब इस एक्सप्रेसवे, हाईवे का निर्माण होगा तो आधे घंटे से 1 घंटे में यह दूरी में तय हो जाएगी. सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में पांच नए एक्सप्रेसवे बनाने की कार्रवाई तेजी से चल रही है.
प्रदेश में पांच एक्सप्रेसवे निर्माणाधीन प्रक्रिया में 

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे निर्माण के अंतिम चरण में है. बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का कार्य 50 फीसदी से अधिक पूरा हो चुका है. प्रदेश सरकार गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे और बलिया लिंक एक्सप्रेसवे का निर्माण युद्धस्तर पर आगे बढ़ा रही है. मेरठ से प्रयागराज के बीच एक नए एक्सप्रेसवे के लिए भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई तेजी से आगे बढ़ रही है. देश की सबसे बड़ी आबादी के बावजूद यूपी में सबसे कम हाईवे थे. आज हम दावे के साथ कह सकते हैं कि हाईवे की संख्या और किलोमीटर की संख्या प्रदेश के अंदर तेजी के साथ बढ़ी है.

लखनऊ की लाइफ लाइन बनेगा कॉरिडोर



CM योगी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने गोमती नदी के दोनों तटों का उपयोग करते हुए एक नए ग्रीनफील्ड कॉरिडोर के निर्माण को अपने हाथों में लिया है. यह लखनऊ की लाइफ लाइन बनेगी. एमएसएमई सेक्टर में प्रदेश सरकार द्वारा लगातार काम किए जा रहे हैं. ओडीओपी के माध्यम से लखनऊ में चिकन कारीगरी का जो कार्य चल रहा है उस को आगे बढ़ाने का प्रस्ताव, लखनऊ, आगरा और गोरखपुर का प्रस्तुत किया है. हम जो एक्सप्रेसवे का जाल प्रदेश के अंदर फैला रहे हैं वो मात्र एक सड़क नहीं है, यह प्रदेश के विकास की और प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक नई पहचान दिलाने वाली और औद्योगिक निवेश को आमंत्रित करने वाली होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज