यूपी: कम हुई कोरोना की रफ्तार, पिछले 24 घंटे में 29824 नए कोरोना मरीज, 35903 डिस्चार्ज

यूपी के अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बुधवार को कोरोना संक्रमण के ताजा आंकड़े जारी किए (File Photo)

यूपी के अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बुधवार को कोरोना संक्रमण के ताजा आंकड़े जारी किए (File Photo)

उत्तर प्रदेश में 24 घंटे के अंदर 29824 नए मरीज मिले हैं, जबकि कोरोना की जंग जीतकर घर जाने वालों की संख्या अब बढ़ गई है. 35903 लोग डिस्चार्ज होकर अपने घर चले गए. वहीं इस दौरान 266 मरीजों की मौत हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 9:14 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में 24 घंटे के अंदर 29824 नए मरीज मिले हैं, जबकि कोरोना की जंग जीतकर घर जाने वालों की संख्या अब बढ़ गई है. 35903 लोग डिस्चार्ज होकर अपने घर चले गए. वहीं इस दौरान 266 मरीजों की मौत हुई है. अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कोविड के 29,824 नए मामले सामने आए हैं और 35,903 लोग डिस्चार्ज हुए.

मंगलवार को प्रदेश में 1,86,588 सैंपल्स की जांच की गई, अब तक प्रदेश में कुल 4,03,28,141 सैंपल्स टेस्ट किए गए हैं. प्रदेश में वैक्सीन की पहली डोज अब तक 99,75,626 लोगों को दी जा चुकी है. वैक्सीन की दूसरी डोज़ अब तक 21,13,088 लोगों को दी जा चुकी है.

Youtube Video


इधर, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि ऑक्सीजन का इस्तेमाल 30-35 % बढ़ चुका है. प्रधानमंत्री के कहने पर ऑक्सीजन की आपूर्ति को बढ़ाया भी गया है. हमारे पास जो 751 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आ रही है, उसे हम सभी अस्पतालों में भेज रहे हैं. प्रदेश में कल रिकॉर्ड ऑक्सीजन की सप्लाई हुई है. कल जितने ऑक्सीजन की सप्लाई हुई उतनी पहले कभी नहीं हुई है. उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कहा कि 321 मीट्रिक टन की सप्लाई FSDA के माध्यम से सीधे अस्पतालों और रिफिल करने वालों को हुई है. हम लोगों ने लगभग 600 मीट्रिक टन ऑक्सीजन सप्लाई की है.
टैंकरों की संख्या बढ़ाई गई 

अवनीश अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ाने के लिए ऑक्सीजन टैंकर की संख्या में भी बढ़ौतरी की गई है. प्रदेश में ऑक्सीजन सप्लाई के लिए 84 टैंकर हैं, जहां पहले सिर्फ़ 30 ही ऑक्सीजन टैंकर थे. प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई को मेनटेन करने और उसे बढ़ाने के लिए ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन का भी प्रयोग किया जा रहा है. जिससे समय की काफ़ी बचत होती है. यही नहीं अब एयरफोर्स का भी सहारा खाली टैंकरों को भेजने के लिए किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज