योगी सरकार के 4 साल: पूर्व राज्यपाल राम नाईक ने दी बधाई, कहा- सपना हुआ साकार

योगी सरकार को  राम नाईक ने दी बधाई.

योगी सरकार को राम नाईक ने दी बधाई.

Lucknow News: पूर्व राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि ईज ऑफ डूईंग बिजिनेस (Ease of doing business) में उत्तर प्रदेश दूसरे नंबर पर है. निजी क्षेत्रों में तीन लाख करोड़ रुपए से अधिक निवेश हुआ. 

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की सरकार को 19 मार्च को चार वर्ष पूर्ण हो रहे है. इस वर्षपूर्ति की पूर्वसंध्या पर उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाईक (Ram Naik) ने योगी सरकार के साथ – साथ सारे उत्तर प्रदेश वासियों को अपनी शुभकामनाएं दी है.अपने शुभेच्छा संदेश में नाईक ने याद दिलाया कि साल 2014 में जब उन्होंने राज्यपाल पद की शपथ ग्रहण की थी तब उत्तर प्रदेश ‘उत्तम प्रदेश’ बनें ऐसी कामना उन्होंने व्यक्त की थी. नाईक ने कहा कि मेरी यह कामना योगी सरकार ने साकार किया है. अब मुझे विश्वास है कि जल्द ही उत्तर प्रदेश ‘सर्वोत्तम प्रदेश’ बनेगा. उत्तर प्रदेश अपार संभावनाओं का भंडार है.

पूर्व राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि सही दिशा मिले तो उत्तर प्रदेश की प्रगति को कोई रोक नहीं सकता, ऐसी मेरी मान्यता रही है. राम नाईक ने कहा. 'विशेष समाधान इस बात का है कि तेजी से उत्तर प्रदेश में व्यापार-उद्योग बढ़ रहा हैं जिसके चलते 35 लाख से भी अधिक युवाओं को आमदनी का रास्ता मिल गया है.  विश्व बैंक के मानकों के अनुसार अब देश में आंध्रप्रदेश के बाद उद्योग करना आसान रहने के लिए (ईज ऑफ डूईंग बिजिनेस) उत्तर प्रदेश दूसरे क्रमांक पर है.  पहले 14 वें स्थान पर था.

योगी आदित्यनाथ की सरकार को राम नाईक ने दिलाई थी शपथ

राम नाईक ने कहा कि  स्वाभाविक है कि अब तक उत्तर प्रदेश के निजी क्षेत्रों में तीन लाख करोड़ रुपए से अधिक निवेश हुआ. राजस्व में हुई बढ़ोतरी भी नाईक को प्रशंसनीय लगती है. उदाहरण के लिए वर्ष 2017 में जीएसटी के तहत 49 हजार करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ था, यह बढ़कर एक लाख करोड़ रूपए हो गया है. अर्थ व्यवस्था के साथ-साथ कानून व्यवस्था में भी हो रहे सुधार पर राम नाईक ने विशेष संतोष जताया. एक हजार करोड़ रूपए से भी अधिक की माफियाओं की अवैध संपत्तियों का जप्तिकरणतभी हो सकता है. जब कानून व्यवस्था मजबूत हो, ऐसी टिप्पणी कर नाईक ने कहा कि महिलाओं के लिए 1500 से अधिक पुलिस थानों में मदद कक्ष स्थापित करने से महिलाएं अब स्वयं को सुरक्षित और सशक्त महसूस करती होगी.
पूर्वांचल में वर्षों से इंसेफेलाइटिस की बीमारी के कारण बड़े पैमाने पर मृत्यू होते थे. इस आपदा पर भी योगी सरकार ने नियंत्रण कर मृत्यू दर 91 प्रतिशत कम हुआ है. स्वच्छता के प्रयासों में योगी सरकार कोई कमी नहीं छोड़ रही. इसका यह सबूत है, ऐसा नाईक मानते हैं.  सरकार के ऐसे ही कड़े प्रयासों का काशी, प्रयागराज और अयोध्या के विकास में भी योगदान है. योगी आदित्यनाथ की सरकार को चार वर्ष पूर्व राम नाईक ने ही शपथ दिलायी थी.  स्वाभाविक है कि इस सरकार की शानदार कामयाबी पर राम नाईक को विशेष समाधान हो रहा है.

ये भी पढ़ें: COVID-19: गोपालगंज में बढ़ी सख्ती, इन 3 बड़े राज्यों से आने वालों की होगी कोरोना जांच, होली मिलन पर रोक

राम नाईक ने दी बधाई



सरकार ने साल 2019 में प्रयागराज में महाकुंभ का सफल आयोजन किया जिसमें 24 करोड़ श्रद्धालु आये थे.  महाकुंभ आयोजन समिति के अध्यक्ष रहें राम नाईक ने कहा कि महाकुंभ के समय सुरक्षा, स्वच्छता व सुव्यवस्था की परीक्षा में खरी उतरी योगी सरकार को शायद यही अनुभव कोरोना पर काबू लाने में मददगार हुए होंगे. नाईक बोले, 'पूरे विश्व का यह मानना है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना का सबसे बेहतर प्रबंधन हुआ है. योगी आदित्यनाथ का चार वर्षों का कार्यकाल पूर्ण करने पर बधाई देकर सी योगी के नेतृत्व में आने वाले वर्ष में उत्तर प्रदेश निरंतर प्रगति की राह पर बढ़ता रह कर ‘सर्वोत्तम प्रदेश’ बनें'.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज