यूपी: बाढ़ और बारिश के कारण हुए हादसों में 5 की मौत

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई इलाकों में नदियों की बाढ़ से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है. 24 घंटों के दौरान बाढ़ (Flood) और बारिश के बाद हुए हादसों में कम से कम 5 लोगों की मौत हो गयी. बलिया में बाढ़ के पानी में डूबकर तीन लोगों की मौत हो गई.

भाषा
Updated: August 22, 2019, 5:45 PM IST
यूपी: बाढ़ और बारिश के कारण हुए हादसों में 5 की मौत
यूपी: बाढ़ और बारिश के कारण हुए हादसों में 5 की मृत्यु. (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: August 22, 2019, 5:45 PM IST
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई इलाकों में नदियों की बाढ़ से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है. पिछले 24 घंटों के दौरान बाढ़ (Flood) और बारिश के बाद हुए हादसों में कम से कम 5 लोगों की मौत हो गयी. बलिया में बाढ़ के पानी में डूबकर तीन लोगों की मौत हो गयी. वहीं, प्रतापगढ़ और भदोही में बारिश के बाद हुए हादसों में दो अन्य लोग मारे गए. केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के अनुसार, गंगा नदी ने रौद्र रूप अख्तियार कर लिया है. पिछले कई दिन से कछलाब्रिज (बदायूं) में कहर ढा रही यह नदी अब नरौरा (बुलंदशहर) के साथ—साथ बलिया में भी खतरे के निशान को पार कर गयी है.

बाराबंकी में खतरे के निशान को पार कर गई घाघरा
फर्रुखाबाद और गाजीपुर में गंगा का जलस्तर खतरे के निशान के नजदीक पहुंच गया है. यमुना नदी मथुरा के प्रयागघाट में खतरे के निशान को पार कर गई है. मावी में इसका जलस्तर इस चिह्न के करीब आ चुका है. शारदा नदी लखीमपुर खीरी के पलियाकलां में अब भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है, जबकि शारदा नगर में यह खतरे के निशान के नजदीक बनी हुई है. घाघरा नदी बाराबंकी के एल्गिनब्रिज में खतरे के निशान को एक बार फिर पार कर गई है. वहीं, अयोध्या और तुर्तीपार में इसका जलस्तर इस निशान के नजदीक बना हुआ है.

बाढ़ के पानी में डूबने से 3 लोगों की मृत्यु

इस बीच, बलिया से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक जिले में अलग—अलग स्थानों पर बाढ़ के पानी में डूबने से तीन लोगों की मृत्यु हो गई. बैरिया थाना क्षेत्र के शुभनथही गांव निवासी आशीष वर्मा (18) की बुधवार को बीएसटी बंधे के बाहर गांव के सामने बाढ़ के पानी में डूबने से मौत हो गई. आशीष मवेशियों के लिए चारा काटने लाने को बाढ़ का पानी पार करके खेत जा रहा था. इसी जिले के फेफना थाना क्षेत्र के चेरुइयां बघड़ा के मठिया गांव के पास तमसा नदी की बाढ़ के पानी में डूबने से कमलेश कन्नौजिया (26) की मौत हो गई. बांसडीह कस्बे से सटे पकड़िया ताल में बुधवार को एक अज्ञात युवक की बाढ़ के पानी में डूबने से मौत हो गई.

बलिया सिटी के निचले इलाकों में घुसा बाढ़ का पानी
जिले में गंगा की बाढ़ के कारण बलिया सिटी के निचले इलाकों में बने दो दर्जन से अधिक मकानों में पानी आ जाने के कारण लोग छतों पर शरण लिए हुए हैं. शहर से सटे विजयीपुर, रामपुर महावल इलाकों में भी बाढ़ का पानी घुस गया है. बैरिया क्षेत्र में घाघरा के जलस्तर में वृद्धि के कारण अठगांवा गांव जलमग्न हो गया है. जिले के घुरी टोला, इब्राहिमाबाद और उपरवार के कई पुरवे रातों—रात बाढ़ के पानी से घिर गये हैं. कई घरों में घाघरा नदी का पानी घुस जाने के कारण लोगों को बीएसटी बंधे पर शरण लेनी पड़ी है. सठिया ढाला से लेकर घाघरा तट तक चारों तरफ पानी ही पानी दिख रहा है.
Loading...

बिजली गिरने से एक व्यक्ति की मौत
उधर प्रतापगढ़ से मिली रिपोर्ट के मुताबिक, जिले के अंतु थाना क्षेत्र स्थित रैबी रजानीपुर बेहड़ा में बारिश के बीच गिरी बिजली की चपेट में आने से रामराज (54) नामक व्यक्ति की मौत हो गयी. भदोही जिले के कोइरौना स्थित सोनैचा गाँव में एक मकान गिरने से अमरावती देवी (75) नामक वृद्ध महिला की दब कर मौत हो गई. हादसे में तीन साल की एक बच्ची सहित कुल चार अन्य लोग घायल भी हुए हैं.

चार—पांच दिनों तक सक्रिय रहेगा मॉनसून
आंचलिक मौसम केंद्र के निदेशक जे.पी. गुप्ता के मुताबिक, पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के पूर्वी हिस्सों के अनेक इलाकों में तथा पश्चिमी भागों में कुछ स्थानों पर बारिश हुई है. उन्होंने बताया कि आने वाले चार—पांच दिनों तक मॉनसून सक्रिय रहेगा. हालांकि बहुत तेज बारिश नहीं होगी.

ये भी पढ़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अयोध्या से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 4:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...