Home /News /uttar-pradesh /

53942 unauthorised loudspeakers removed from religious places in uttar pradesh upns

UP में धार्मिक स्थलों से अब तक 53942 लाउडस्पीकर उतारे गए, 60295 की कम कराई आवाज

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पिछले हफ्ते वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान दिए गए दिशा निर्देशों के आधार पर यह कार्रवाई की जा रही है. सीएम योगी ने कहा था कि हर किसी को अपनी-अपनी धार्मिक आस्था के हिसाब से पूजा और इबादत करने की आजादी है, लेकिन लाउडस्पीकर की आवाज परिसर के बाहर नहीं जानी चाहिए ताकि दूसरे लोगों को कोई परेशानी न हो.

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पिछले हफ्ते वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान दिए गए दिशा निर्देशों के आधार पर यह कार्रवाई की जा रही है. सीएम योगी ने कहा था कि हर किसी को अपनी-अपनी धार्मिक आस्था के हिसाब से पूजा और इबादत करने की आजादी है, लेकिन लाउडस्पीकर की आवाज परिसर के बाहर नहीं जानी चाहिए ताकि दूसरे लोगों को कोई परेशानी न हो.

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पिछले हफ्ते वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान दिए गए दिशा निर्देशों के आधार पर यह कार्रवाई की जा रही है. सीएम योगी ने कहा था कि हर किसी को अपनी-अपनी धार्मिक आस्था के हिसाब से पूजा और इबादत करने की आजादी है, लेकिन लाउडस्पीकर की आवाज परिसर के बाहर नहीं जानी चाहिए ताकि दूसरे लोगों को कोई परेशानी न हो.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में ध्वनि प्रदूषण के खिलाफ यूपी पुलिस का अभियान लगातार जारी है. प्रदेश भर में धार्मिक स्थलों पर लगे 53942 लाउडस्पीकर अब तक उतारे गए हैं. इसके अलावा 60295 की ध्वनि कम करा कर मानक के अनुसार करायी गई. यूपी पुलिस ने 1 मई सुबह 7 बजे तक का डाटा जारी किया. यूपी के एडीजी कानून व व्यवस्था प्रशांत कुमार ने यह जानकारी दी.  साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में लाउडस्पीकर हटाने को लेकर कोई विवाद नहीं हुआ. कुमार के मुताबिक मुख्यमंत्री की अपील पर लोग आगे बढ़कर खुद ही लाउडस्पीकर उतार रहे हैं.

यूपी के एडीजी कानून व व्यवस्था प्रशांत कुमार कार्रवाई के बारे में आगे बताते हुए कहा, ‘जो लाउडस्पीकर हटाए जा रहे हैं, वे अनधिकृत हैं. उन लाउडस्पीकर को अनधिकृत की श्रेणी में रखा गया है जिन्हें निर्धारित प्रक्रिया के तहत जिला प्रशासन की अनुमति लिए बिना लगाया गया है या जितने लाउडस्पीकर लगाने की अनुमति दी गई है, उसके अलावा ध्वनि विस्तारक यंत्र लगाए गए हैं. इसके साथ उन्होंने कहा कि इस अभियान के दौरान उच्च न्यायालय के आदेश पर भी गौर किया जा रहा है.

CM योगी ने दिया था आदेश
बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पिछले हफ्ते वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान दिए गए दिशा निर्देशों के आधार पर यह कार्रवाई की जा रही है. सीएम योगी ने कहा था कि हर किसी को अपनी-अपनी धार्मिक आस्था के हिसाब से पूजा और इबादत करने की आजादी है, लेकिन लाउडस्पीकर की आवाज परिसर के बाहर नहीं जानी चाहिए ताकि दूसरे लोगों को कोई परेशानी न हो.

कब हुआ था लाउडस्पीकर का आविष्कार
लाउडस्पीकर का आविष्कार 20वीं सदी की शुरुआत में हुआ था. इस आविष्कार के बाद लाउडस्पीकर्स को मस्जिदों तक पहुंचने में बहुत ज्यादा वक्त नहीं लगा. हालांकि इसके इस्तेमाल को शुरू में विरोध की भी स्थिति थी. कुछ लोग ये मानते थे ईश्वर और अल्लाह की इबारत में इन नई मशीनी चीजों का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए.

Tags: CM Yogi, Lucknow News Today, Pollution Research, Supreme court of india, UP news, UP Police उत्तर प्रदेश, Yogi government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर