विधानसभा सत्र: UP में खत्म होंगे 62 अनुपयोगी कानून, योगी सरकार आज पेश करेगी उत्तर प्रदेश निरसन विधेयक-2020
Lucknow News in Hindi

विधानसभा सत्र: UP में खत्म होंगे 62 अनुपयोगी कानून, योगी सरकार आज पेश करेगी उत्तर प्रदेश निरसन विधेयक-2020
यूपी विधानसभा में शनिवार का दिन योगी सरकार के लिए काफी महत्वपूर्ण रहेगा.

योगी सरकार यूपी विधानसभा (UP Assembly) के मॉनसून सत्र (Monsoon Session) में शनिवार को विधेयक पेश कर प्रदेश में 62 अनुपयोगी कानूनों को खत्म करने की तैयारी में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2020, 7:19 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) शनिवार को यूपी विधानसभा (UP Assembly) के मॉनसून सत्र (Monsoon Session) में उत्तर प्रदेश निरसन विधेयक-2020 पेश करने जा रही है. इस विधेयक के जरिए प्रदेश में 62 से ज्यादा अनुपयोगी कानून खत्म कर दिए जाएंगे. विधि आयोग पहले ही ऐसे कानूनों को खत्म करने की अनुमति दे चुका है.

कई अंग्रेजों के जमाने के कानून होंगे खत्म

सरकार का मानना है कि वर्षों पुराने इन कानूनों की अब कोई जरूरत नहीं रह गई है. इसमें अंग्रेजों के बनाया 1938 के यूपी ब्रोस्टल एक्ट भी शामिल है, जिसकी जगह केंद्र सरकार पहले ही जुवेनाइल जस्टिस एक्ट बना चुकी है. ये देश भर में लागू है. इसी तरह से माना जा रहा है कि सरकारी समितियों से जुड़े करीब 30 से ज्यादा कानून खत्म होंगे. वहीं उत्तर प्रदेश बाल एक्ट 1951 भी उपयोगी नहीं रह गया है. इसी तरह  कुछ अन्य कानूनों में उत्तर प्रदेश पशु खरीद कर अधिनियम, उत्तर प्रदेश सिनेमा व कराधान कानून भी खत्म हो जाएंगे.



कुल 22 विधेयक आज होंगे पेश
सरकार ने ये निर्णय योगी कैबिनेट बाय सर्कुलेशन के जरिए लिया है. शनिवार को सरकार करीब 22 विधेयक पास कराएगी. पहले ये ये 17 विधेयक थे लेकिन हाल में ही 5 और विधेयक लाने का निर्णय सरकार ने लिया है. इनमें एमएसएमई संशोधन विधेयक, राजस्व संहित बिल और कारागार से जुड़े विधेयक शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading