COVID-19: खुशखबरी! UP में कोरोना पॉजिटिव मामलों के मुकाबले ठीक होने वालों का आंकड़ा बढ़ा

यूपी में कोरोना से अब तक 82 की मौत.
यूपी में कोरोना से अब तक 82 की मौत.

उत्‍तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमण (Covid-19 Infection) के 112 नए मामले सामने आए हैं. राज्य में अब संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 3,664 हो गई है. इनमें से 1,873 रोगी ठीक हो कर घर जा चुके हैं. जबकि प्रदेश में इस वक्त कोरोना वायरस से संक्रमित 1,709 मरीजों का इलाज चल रहा है. ऐसा पहली बार हुआ है कि एक्टिव केस के मुकाबले अधिक लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश के हापुड़ और मेरठ में मंगलवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) ने दो और लोगों की जान ले ली. इसके बाद उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण से मरने वालों की तादाद बढ़कर 82 हो गई. हालांकि प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमण (Covid-19 Infection) के 112 नए मामले सामने आए हैं. इस तरह राज्य में अब तक संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 3,664 हो गई है. इनमें से 1,873 रोगी ठीक हो कर घर जा चुके हैं. जबकि प्रदेश में इस वक्त कोरोना वायरस से संक्रमित 1,709 मरीजों का इलाज चल रहा है. हालांकि ऐसा पहली बार हुआ है कि एक्टिव केस के मुकाबले अधिक लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं.

प्रमुख सचिव ने कही ये बात
प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि जब से कोरोना वायरस संक्रमण फैला है, सोमवार शाम पहली बार ये स्थिति आयी कि ठीक होकर अस्पताल से छुट्टी पाने वालों की संख्या 1,758 थी और संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 1,735 थी. मंगलवार को भी यही स्थिति रही, जो कि अच्छा लक्षण है. साथ ही उन्‍होंने बताया कि प्रदेश में 53,459 पृथक बेड और 1260 बेड वेंटिलेटर की सुविधा के साथ हैं. जबकि पृथक केंद्रों में इस समय 9,515 लोग हैं. वहीं सोमवार को कुल 4,754 नमूनों की जांच की गई.

यूपी में अब तक 82 की मौत
स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के मुताबिक प्रदेश में हापुड़ और मेरठ जिले में कोविड-19 संक्रमित दो और लोगों की मौत हो गई. हालांकि प्रदेश में सबसे ज्यादा 24 मौतें आगरा में हुई हैं. उसके बाद मेरठ में 14, मुरादाबाद में सात, कानपुर नगर में छह, फिरोजाबाद और मथुरा में चार-चार, अलीगढ़ में तीन, गाजियाबाद, झांसी और गौतम बुद्ध नगर में दो-दो तथा हापुड़, ललितपुर, प्रयागराज, एटा, मैनपुरी, बिजनौर, कानपुर देहात, अमरोहा, बरेली, बस्ती, बुलंदशहर, लखनऊ, वाराणसी और श्रावस्ती में एक-एक शख्स की मृत्यु हुई है।



हम आरोग्य सेतु ऐप का लगातार उपयोग कर रहे हैं
प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि हम आरोग्य सेतु ऐप का लगातार उपयोग कर रहे हैं. देश में बडी भारी संख्या में लगातार लोग उसे डाउनलोड कर रहे हैं. उसका लाभ भी देखने को मिल रहा है. उससे जितने अलर्ट मिल रहे हैं, उन्हें जिलों को उपलब्ध कराया जा रहा है ताकि जिलों में लोगों से संपर्क कर उनका हालचाल पूछा जा सके. इसके अलावा लखनऊ मुख्यालय स्थित नियंत्रण कक्ष से भी लगातार लोगों को फोन किया जा रहा हैं. अब तक 2,722 लोगों को फोन किया गया, उनमें से दस लोग संक्रमित निकले, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है.

हॉटस्पाट एवं गैर हॉटस्पाट क्षेत्रों में लगातार सर्वेक्षण
उन्होंने बताया कि निगरानी टीम हॉटस्पाट एवं गैर हॉटस्पाट क्षेत्रों में लगातार सर्वेक्षण कर लोगों से संपर्क कर रही हैं. अगर किसी में किसी तरह का लक्षण है तो उनके परीक्षण के लिए सूचना मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दी जा रही है. जहां जरूरत हुई, लोगों को चिकित्सालयों में भर्ती कराया गया है.

प्रवासियों के लिए 21 दिन होम क्‍वारंटाइन जरूरी
प्रसाद ने कहा कि प्रवासी कामगार रोज भिन्न भिन्न राज्यों से लौट रहे हैं. पृथकवास में रखे गये श्रमिकों एवं कामगारों को लेकर कई जिलों से सूचना प्राप्त हो रही है कि उनमें से कुछ संक्रमित हैं. उन्होंने कहा कि बहुत जरूरी है कि 21 दिन घर पर पृथकवास में रहने का कड़ाई से पालन कराया जाए. अगर वे 21 दिन घर पर रहते हैं और बाहर नहीं निकलते तो किसी तरह का संक्रमण नहीं फैलेगा. जिनको लक्षण नहीं होने के कारण घर में ही पृथकवास में भेजा गया है, उनसे अनुरोध है कि वे घरों में भी बुजुर्ग, पहले से बीमार लोगों और गर्भवती महिला से दूरी बनाकर रखें, क्योंकि उन्हें संक्रमित होने पर ज्यादा कठिनाई का सामना करना पड़ता है. ऐसे लोगों को हर हाल में बचाने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें

CM योगी का आदेश, जरूरतमंदों को राशन कार्ड न होने पर भी मिले अनाज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज