यूपी में 97 हजार पदों की शिक्षक भर्ती पर मंडराने लगे संकट के बादल

वर्तमान शिक्षक भर्ती के विवादों में आने के बाद एक तरफ जहां इसे लेकर कोर्ट में सुनवाई चल रही है वहीं दूसरी ओर सरकार भी प्रकरण की जांच करवा रही है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 10, 2018, 3:52 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 10, 2018, 3:52 PM IST
सरकार की इसी साल आने वाली 97 हजार पदों की बड़ी शिक्षक भर्ती पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. बीते 4 सितंबर को सीएम योगी ने ऐलान किया था कि सरकार जल्द ही 97 हजार पदों के लिए एक और शिक्षक भर्ती लेकर आएगी. असल में वर्तमान शिक्षक भर्ती के विवादों में आने के बाद एक तरफ जहां इसे लेकर कोर्ट में सुनवाई चल रही है वहीं दूसरी ओर सरकार भी प्रकरण की जांच करवा रही है.

बेसिक शिक्षा विभाग की वर्तमान में चल रही सहायक अध्यापकों की 68,500 पदों की शिक्षक भर्ती में अब तक करीब 40,788 पदों पर भर्ती हुई हैं. सरकार की योजना इसी साल एक और शिक्षक भर्ती लाने की थी जिसमें इस भर्ती से बचे पदों को शामिल किया जाता. इस तरह कुल 97 हजार के करीब पदों की भर्ती आती. लेकिन वर्तमान भर्ती में अब कई ऐसे अभ्यर्थी सामने आ रहे हैं जिनको परीक्षा में क्वालिफाई होने के बाद भी फेल कर दिया गया था.

ऐसे में अब सरकार को इन अभ्यर्थियों को भी भर्ती देनी होगी जिससे इस भर्ती के पदों की संख्या में बदलाव करना पड़ सकता है. दूसरा बड़ा कारण कि इस समय पूरा अमला सिर्फ वर्तमान शिक्षक भर्ती में हुई गड़बड़ियों की जांच में लग गया है. वहीं बड़े पैमाने पर अधिकारियों का फेरबदल भी किया गया है. ऐसे में आगामी भर्ती की तैयारियों पर भी काम नहीं हो रहा है.

जब तक इस मामले का पूरा समाधान नहीं होता, सरकार के लिए अगली भर्ती लाना आसान नहीं. इसके अलावा विभागीय सूत्रों की मानें तो आगामी शिक्षक भर्ती में विभाग परीक्षा का पैटर्न बदलने पर भी विचार कर रहा है. परीक्षा में कटऑफ खत्म करने के साथ ही लिखित की जगह बहुविकल्पीय प्रश्नों पर आधारित परीक्षा कराने की योजना बनाई जा रही है. ओएमआर शीट पर परीक्षा होने से गड़बड़ी की आशंका नहीं रहेगी.

 ये भी पढ़ें - 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर