अपना शहर चुनें

States

आम आदमी पार्टी का बड़ा ऐलान, यूपी में जिला पंचायत की सभी सीटों पर लड़ेगी चुनाव, टिकट की होगी ये शर्त

यूपी में जिला पंचायत चुनाव लड़ेगी पार्टी:  संजय सिंह (फाइल फोटो)
यूपी में जिला पंचायत चुनाव लड़ेगी पार्टी: संजय सिंह (फाइल फोटो)

आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) ने उत्‍तर प्रदेश में सभी सीटों पर जिला पंचायत चुनाव (District Panchayat Election) लड़ने का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2020, 11:14 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में अपनी जड़ें जमाने की कोशिश में जुटी आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) जिला पंचायतों के आगामी चुनाव में सभी सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े करेगी. पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) ने मंगलवार को बताया कि पार्टी की प्रदेश कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में यह फैसला लिया गया है. इसके साथ उन्होंने बताया कि सभी की सहमति से फैसला लिया गया कि आप उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी जिला पंचायत चुनाव (District Panchayat Election) में सभी सीटों पर उम्मीदवार खड़े करेगी.

ऐसे मिलेगी लोगों को टिकट
राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि इसके लिए सभी जिलों में एक फॉर्म जारी किया जाएगा, जो लोग चुनाव लड़ना चाहते है उनसे ये फॉर्म भरवाया जाएगा. यह फॉर्म सभी जिला कार्यकारिणी भरवाकर प्रदेश कार्यकारिणी को देंगी. सिंह ने कहा कि इसके अलावा प्रदेश तथा जिले के संगठनों में आने वाले दिनों में फेरबदल किया जाएगा, जिला पंचायत के चुनाव लड़े जाएंगे और प्रदेश कार्यकारिणी का एक सदस्य जिनके जिम्मे प्रदेश का कार्यभार होगा, वह महीने में दस दिन अपने प्रभार वाले जिले में संगठन निर्माण व आंदोलन के लिए समय देंगे और प्रतिदिन अपने गृह जनपद में दो घंटे का समय पार्टी के लिए देंगे.


योगी सरकार पर साधा निशाना


संजय सिंह ने कहा कि आम आदमी पार्टी अधीनस्थ चयन सेवा भर्ती, दरोगा की भर्ती, 69 हजार शिक्षकों की भर्ती और शिक्षा मित्रों की भर्ती के मामलों को लेकर प्रदेश सरकार के विश्वासघात के खिलाफ चरणबद्ध तरीके से आंदोलन करेगी. उन्होंने कहा कि इसके अलावा महिलाओं एवं बेटियों की सुरक्षा के सवाल पर भी पार्टी आने वाले दिनों में हर जिले में बड़ा आंदोलन खड़ा करेगी. वहीं, सिंह ने कहा कि कोरोना काल में कथित घोटाले की जांच के लिए राज्य सरकार ने एक विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) का गठन किया था. एसआईटी को 10 दिन के अंदर उसकी रिपोर्ट देनी थी लेकिन अब तक उस पर क्या हुआ किसी को कुछ नहीं पता. उन्होंने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार के सभी मामलों के लेकर एसआईटी बनाकर उन्हें कूड़ेदान में डालने का काम करती है और एसआईटी सरकार के लिए सुरक्षा कवच बन गयी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज