लखनऊ पुलिस के सामने आज पेश नहीं होंगे AAP सांसद संजय सिंह, ये रही वजह

लखनऊ पुलिस के सामने आज पेश नहीं होंगे AAP सांसद संजय सिंह (file photo)
लखनऊ पुलिस के सामने आज पेश नहीं होंगे AAP सांसद संजय सिंह (file photo)

बता दें कि जातिगत सर्वे कराने को लेकर आप सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) पर लखनऊ के हजरतगंज थाने में देशद्रोह की धारा लगाई गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 11:12 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के नेता एवं राज्य सभा सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) रविवार को लखनऊ पुलिस के सामने पेश नहीं होंगे. दरअसल लखनऊ पुलिस ने उनके खिलाफ दर्ज देशद्रोह मामले में 20 सितंबर को अपना बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया था. लेकिन अब लखनऊ पुलिस ने सूचित किया है कि चूंकि संसद का सत्र चल रहा है इसलिए आप सत्र खत्म होने के दो दिन बाद अपना बयान दर्ज कराने के लिए आ सकते हैं. लखनऊ पुलिस अब 20 सितंबर को संजय सिंह का बयान नहीं लेगी. पुलिस ने संजय सिंह को मेल कर कल आने के लिए मना किया है. मेल पर भेजी गई चिट्ठी में पुलिस ने कहा है कि वर्तमान में संसद सत्र चल रहा है. ऐसे में सत्र खत्म होने के दो दिन बाद थाना हजरतगंज में अपना पक्ष रखने के लिए आएं.

बता दें कि जातिगत सर्वे कराने को लेकर आप सांसद संजय सिंह पर लखनऊ के हजरतगंज थाने में देशद्रोह की धारा लगाई गई है. पुलिस ने संजय सिंह को 20 सितंबर को पेशी पर बुलाया था. हालांकि अब उनकी 20 सितंबर को पेशी नहीं होगी. पुलिस ने संजय सिंह के खिलाफ दो सितंबर को जातिवादी भावना भड़काने (501-ए) और आईटी एक्ट समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था.

मेल पर भेजी गई चिट्ठी
मेल पर भेजी गई चिट्ठी




इससे पहले हजरतगंज पुलिस थाने के जांच अधिकारी एके सिंह की ओर से संजय सिंह को भेजे गए नोटिस में कहा गया है, 'आपके विरुद्ध मुकदमा अपराध संख्या 242/2020 भारतीय दंड संहिता की धारा 153 ए/153 बी/,505 :1::बी:/505:2:/468/469/124 ए/120 बी व 66 सी/66 डी आईटी अधिनियम के तहत पुलिस थाना हजरंतगंज लखनऊ के संबंध में जांच विवेचना की जा रही है, जो संज्ञेय एवं गैर जमानती अपराध है, जिसके संबंध में अपने पक्ष में तथ्यों/अभिलेखीय साक्ष्य प्रस्तुत करने हेतु मेरे समक्ष 20 सितंबर को सुबह 11 बजे उपस्थित होना सुनिश्चित करें.
ये भी पढे़ं- योगी सरकार का दावा- पिछले 6 माह में दिया 1.25 करोड़ लोगों को रोजगार

नोटिस में कहा गया है, ‘‘यदि आप नियत तिथि/समय पर उपस्थित नहीं होते हैं तो आपके विरुद्ध दंडनीय कार्यवाही की जायेगी.' जांच अधिकारी ने बताया कि संजय सिंह के अलावा सर्वेक्षण करने वाली निजी कंपनी के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है. सिंह द्वारा जारी किये गये इस सर्वेक्षण में कहा गया था कि योगी आदित्यनाथ सरकार एक विशेष जाति के लिये कार्य कर रही है. इस सर्वेक्षण के बाद संजय सिंह के खिलाफ प्रदेश के विभिन्न जिलों में कम से कम 13 मामले दर्ज कराये गये थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज