लाइव टीवी

न्याय मांगने के लिए पानी की टंकी पर चढ़ा परिवार, आत्मदाह की दी धमकी

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 5, 2019, 10:23 AM IST
न्याय मांगने के लिए पानी की टंकी पर चढ़ा परिवार, आत्मदाह की दी धमकी
पानी की टंकी पर चढ़ा वकील का परिवार

बीते 24 घंटे से ज्यादा समय से टंकी पर चढ़ा वकील परिवार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ा हुआ है. परिवार ने टंकी पर मच्छरदानी बांधकर शुक्रवार की रात बिताई. पीड़ित परिवार ने उन्हें उतारने के लिए किसी के भी टंकी पर चढ़ने पर पेट्रोल छिड़क कर आत्मदाह की धमकी दी है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में एक वकील परिवार (Advocate Lamily) के पानी की टंकी (Water Tank) पर चढ़कर धरना देने का मामला सामने आया है. यह घटना काकोरी (Kakori) इलाके की है. परिवार का आरोप है कि जमीन विवाद (Land Dispute) में करीब चार साल पहले भाई के अपहरण मामले में कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. 24 घंटे से ज्यादा समय से टंकी पर चढ़ा ये परिवार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ा हुआ है. परिवार ने टंकी पर मच्छरदानी बांधकर शुक्रवार की रात बिताई.

पीड़ित परिवार ने उन्हें उतारने के लिए किसी के भी टंकी पर चढ़ने पर पेट्रोल छिड़क कर आत्मदाह की धमकी दी है. इसकी सूचना पाकर मौके पर पहुंचे हरदोई के एएसपी ज्ञानंजय सिंह और सीओ संडीला अमित कुमार श्रीवास्तव नाराज परिवार को मनाने में जुटे रहे. इन अधिकारियों ने उन्हें हरदोई के डीएम से फोन पर बात कराने का प्रयास किया, लेकिन वकील सिर्फ मुख्यमंत्री या डीजीपी से बात करने की बात पर अड़ा हुआ है. मौके पर कई थानों की फोर्स और फायर ब्रिगेड मौजूद है. वकील परिवार हरदोई के एसपी और डीएम के साथ-साथ राज्य सरकार के खिलाफ रह-रहकर नारेबाजी कर रहा है.

मौके पर मौजूद कई थानों की फोर्स और फायर ब्रिगेड
मौके पर मौजूद कई थानों की फोर्स और फायर ब्रिगेड


पैतृक जमीन पर दबंगों द्वारा कब्जा करने का आरोप

दरअसल, हरदोई सुरसा थाना क्षेत्र के निवासी वकील विनय प्रताप सिंह का आरोप है कि गांव के लल्लन सिंह, वीरपाल सिंह उर्फ भोला, संजय सिंह, कृष्णपाल सिंह उर्फ केपी, अमर सिंह और भरत सिंह ने उनके पैतृक जमीन पर कब्जा कर लिया है. इसका विरोध करने पर जनवरी 2016 में उनके भाई विवेक प्रताप सिंह को अगवा कर लिया. केस दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की. इस दौरान उन्हें आरोपितों द्वारा धमकी मिलने के चलते गांव छोड़ना पड़ा. इस वजह से उनके परिवार ने टंकी पर चढ़कर खुदकुशी करने का फैसला किया है. विनय के साथ उनकी पत्नी राधा के अलावा भाई अजय प्रताप सिंह, अजय की पत्नी माला, उनका नौ साल का बेटा शिव सिंह, बहन राजवती सिंह, बेटी पूनम भी हैं. वकील विनय प्रताप का कहना है कि यदि उन्हें न्याय नहीं मिलता है तो शनिवार सुबह वो पूरे परिवार के साथ पेट्रोल छिड़क कर आत्मदाह कर लेंगे.

 (रिपोर्ट: ऋषभ मणि त्रिपाठी)

ये भी पढ़ें:
Loading...

एक लाख के इनामी जॉनी दादा ने खुद को मारी गोली, एयर होस्टेस समेत 3 हत्याओं में था आरोपी

मायके से ससुराल नहीं लौट रही थी पत्नी, गम बर्दाश्त न कर सका पति, लगा ली फांसी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 9:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...