लाइव टीवी
Elec-widget

22 साल बाद यूपी करेगा ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस की मेजबानी, अमित शाह भी होंगे शामिल

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 26, 2019, 3:07 PM IST
22 साल बाद यूपी करेगा ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस की मेजबानी, अमित शाह भी होंगे शामिल
डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि 1960 में बिहार से ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस का आयोजन शुरू हुआ था.

डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने बताया कि देश भर के शिक्षाविद् भी कार्यक्रम में आएंगे. इसमें फॉरेंसिक साइंस और टेक्नालॉजी, महिला और बच्चों की सुरक्षा, कट्टरपंथ को रोकने में सोशल मीडिया की भूमिका, पुलिस और ट्रेनिंग, क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम में सीसीटीएनएस के सहयोग पर शोध पेपर प्रस्तुत किए जाएंगे.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) को 22 साल बाद ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस (All India Police Science Congress) की मेजबानी मिली है. 47वीं पुलिस साइंस कांग्रेस का आयोजन पुलिस मुख्यालय सिग्नेचर बिल्डिंग में 28, 29 नवंबर को होगा. इस संबंध में प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने बताया कि पहली बार पुलिस साइंस कांग्रेस 1960 में बिहार से शुरू हुई थी. इसका आयोजन ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट (Bureau Of Police Research and Development) हर साल करता है.

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि लखनऊ में ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस में 28 नवंबर को सुबह 10 बजे कार्यक्रम का शुभारंभ होगा. पुलिस साइंस कांग्रेस में एक प्रदर्शनी भी होगी, जिसका उद्घाटन किरण बेदी (Kiran Bedi) करेंगीं. वहीं 29 नवंबर को समापन के मौके पर गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) और सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) शामिल होंगे. उन्होंने बताया कि पूरे देश के पुलिस अधिकारी इस पुलिस साइंस कांग्रेस में शामिल होंगे. ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के तत्वावधान में कार्यक्रम का आयोजन होगा.

कट्टरपंथ को रोकने में सोशल मीडिया की भूमिका पर भी पेश होगा शोध

डीजीपी ने बताया कि देश भर के शिक्षाविद भी कार्यक्रम में आएंगे. इसमें फॉरेंसिक साइंस और टेक्नालॉजी, महिला और बच्चों की सुरक्षा, कट्टरपंथ को रोकने में सोशल मीडिया की भूमिका, पुलिस और ट्रेनिंग, क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम में सीसीटीएनएस के सहयोग पर शोध पेपर प्रस्तुत किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि इन विषयों पर 100 पेपर्स हमारे पास आ चुके हैं. आयोजन के लिए कई कमेटियां बनाई गई हैं. आम जनता भी कार्यक्रम में आ सकती है.

ये भी पढ़ें:

अयोध्या फैसले पर सुन्नी वक्फ बोर्ड की बैठक खत्म, नहीं दाखिल होगा रिव्यू पिटीशन

यूपी में 10 जिलों के DIOS बदले गए, माध्यमिक शिक्षा के 38 अफसरों का ट्रांसफर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 3:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...