लाइव टीवी

'यह योगी राज है, यहां- साहब की मर्जी ही कानून है, नहीं चलेगा'

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 7, 2019, 2:54 PM IST
'यह योगी राज है, यहां- साहब की मर्जी ही कानून है, नहीं चलेगा'
यूपी में 7 पीपीएस अफसरों के खिलाफ कार्रवाई के बाद योगी आदित्यनाथ ऑफिस ट्विटर हैंडल से ट्वीट किए गए हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्देश पर डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने बड़ा एक्शन लेते हुए 7 पीपीएस (7 PPS) अधिकारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्त (Forcibly Retirement) दे दी है. उधर कार्रवाई के बाद योगी आदित्यनाथ ऑफिस आधिकारिक टि्वटर हैंडल से एक के बाद एक कई ट्वीट किए गए हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने भ्रष्टाचार (Corruption) पर कड़ा प्रहार करते हुए प्रांतीय पुलिस सेवा (PPS) अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई की है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने बड़ा एक्शन लेते हुए 7 पीपीएस अधिकारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्त (Forcibly Retirement) दे दी है. उधर कार्रवाई के बाद योगी आदित्यनाथ ऑफिस आधिकारिक टि्वटर हैंडल से एक के बाद एक कई ट्वीट किए गए हैं. इनमें साफ किया गया है कि सरकार भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करेगी.

जनहित के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध सरकार

इसमें लिखा गया है, "यह 'योगी राज' है...इसमें बाकी सरकारों की तरह "साहब की मर्जी ही कानून है" नहीं चलेगा. यहां कानून का ऐसा राज है जिसमें किसी भी तरह के भ्रष्टाचार की कोई गुंजाइश नहीं है.'
अगले ट्वीट में लिखा गया है, "यह 'योगी सरकार' है...औरों की तरह इसके पास सिर्फ वादे ही नहीं दृढ़ इरादे भी हैं. यह सरकार किसी व्यक्ति या वंश की नहीं, जनहित के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध सरकार है."

Yogi Adityanath tweet
योगी आदित्यनाथ ऑफिस का ट्वीट


भ्रष्टाचारी चाहे जितने रसूख वाले हों... बचेंगे नहीं

अगले ट्वीट में लिखा है, "भ्रष्टाचारी चाहे जितने रसूख वाले हों... बचेंगे नहीं. भ्रष्टाचार के आरोपी अधिकारियों पर त्वरित और सख्त कार्रवाई के बाद अब अक्षम, अयोग्य और संदिग्ध सत्यनिष्ठा वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई." योगी आदित्यनाथ की सरकार में केवल 'बेहतर को ही अवसर' है.
Loading...

वहीं आखिरी ट्वीट में लिखा है, 'उत्तर प्रदेश पुलिस के तीन आयाम हैं-
1.सत्यनिष्ठा
2.कर्मठता
3.दक्षता
इन पैमानों पर खरा न उतरने वाले सात अधिकारियों को आज अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी गयी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्पष्ट संदेश है- कर्तव्यपालन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं."

ये भी पढ़ें:

7 PPS को जबरन रिटायर करने के बाद 25 और अफसरों पर गाज की तैयारी

भ्रष्टाचार के खिलाफ योगी सरकार का हल्ला बोल, 7 PPS अफसरों को किया जबरन रिटायर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 2:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...