लाइव टीवी

यूपी उपचुनाव में करारी शिकस्त के बाद भी आखिर क्यों खुश है कांग्रेस, जानिए वजह

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 25, 2019, 8:06 AM IST
यूपी उपचुनाव में करारी शिकस्त के बाद भी आखिर क्यों खुश है कांग्रेस, जानिए वजह
प्रियंका गांधी की सक्रियता से कांग्रेस का बढ़ रहा जानाधर

यूपी उपचुनाव (UP By Election 2019) में कांग्रेस (Congress) ने बसपा (BSP) से भी बेहतर प्रर्दशन किया. कांग्रेस के वोट प्रतिशत में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की 11 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव (Bye Election) में कांग्रेस को मिली करारी शिकस्त के बावजूद कांग्रेस (Congress) खेमे में ख़ुशी नजर आ रही है. दरअसल, यूपी उपचुनाव में भले ही कांग्रेस एक भी सीट न जीत सकी हो, लेकिन इस उपचुनाव में कांग्रेस के वोट शेयर में अप्रत्याशित बढोत्तरी हुई है. 11 सीटो पर हुए उपचुनाव में बीजेपी (BJP) गठबंधन ने 8 और सपा ने 3 सीटो पर कब्ज़ा किया. जबकि 2019 के लोकसभा चुनाव में यूपी की नंबर दो पार्टी रही बसपा भी इस उपचुनाव में अपना खाता नहीं खोल सकी. इस उपचुनाव में कांग्रेस ने बसपा से भी बेहतर प्रर्दशन किया.

कांग्रेस के मत प्रतिशत में हुई रिकार्ड बढ़ोत्तरी

उत्तर प्रदेश में एक लंबे समय से हाशिए पर चल रही कांग्रेस में जान फूंकने के लिए प्रियंका गांधी के प्रयास रंग लाते दिख रहे है. जिसके चलते कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी के नेतृत्व में एक के बाद एक सत्ता के खिलाफ किए गए प्रर्दशनों का स्पष्ट असर उपचुनाव में भी देखने को मिला. भले ही कांग्रेस एक भी सीट न जीत सकी हो, लेकिन 2017 के विधानसभा में उसे मिले महज 6.25 फीसदी वोट शेयर में इस बार करीब दोगुना बढोत्तरी हुई है. उपचुनाव में कांग्रेस को 12.80 फीसदी वोट मिले.

प्रियंका गांधी को श्रेय

कांग्रेस इस उपलब्धि को जनता में प्रियंका गांधी का बढ़ता विश्वास मान रही है. उसका कहना है कि प्रियंका के नेतृत्व में न सिर्फ जनता में कांग्रेस के प्रति विश्वास बढा है, बल्कि इस उपचुनाव में कांग्रेस को पिछले चुनाव में मिले 6.25 फीसदी वोट से करीब दोगुना अधिक 12.80 फीसदी वोट मिले है. यह कांग्रेस के लिए किसी शुभ संकेत से कम नही है.

बीजेपी का वोट प्रतिशत 14 फ़ीसदी गिरा

उधर विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस का सर्वाधिक वोट प्रतिशत बढा है, तो बीजेपी के वोट प्रतिशत में सर्वाधिक गिरावट भी देखने को मिली है. इस दौरान बीजेपी ने भले ही अपनी 9 सीटो में से 8 सीटो पर दोबारा जीत दर्ज कर ली हो, लेकिन उसका वोट प्रतिशत करीब 14 फीसदी कम हुआ है.
Loading...

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने जताया आभार

विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस के वोट प्रतिशत में हुई दोगुनी वृद्धि पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी अपनी खुशी का ट्विटर पर इजहार किया. अजय कुमार लल्लू ने ट्विटर पर लिखा कि 'विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस का वोट प्रतिशत पिछली बार से दोगुना हुआ है. परिवर्तन की शुरूआत हो चुकी है. कांग्रेस मतदाताओ के फैसले का सम्मान करती है. सभी कर्मठ नेताओ और कार्यकर्ताओ का ह्रदय से आभार.

गंगोह में कांग्रेस हारी नही हराई गई

उत्तर प्रदेश के इस विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस को न सिर्फ 12.80 फीसदी मत मिले है, बल्कि कांग्रेस 11 सीटो में से 2 सीटो पर दूसरे नबंर और 5 सीटो पर तीसरे नबंर पर रहकर पिछले चुनावों की अपेक्षा इस बार शानदार प्रर्दशन किया. कांग्रेस ने गंगोह और गोविंदनगर में दूसरे नंबर पर रहकर बीजेपी को टक्कर दी. तो जैदपुर, लखनऊ कैंट, इगलास, प्रतापगढ और रामपुर में भी कांग्रेस तीसरे नंबर पर रही. ऐसे में अगर कांग्रेस की माने तो सहारनपुर की गंगोह सीट पर कांग्रेस हारी नही बल्कि बीजेपी की तानाशाही और बेइमानी से हराई गई है. कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और नवनियुक्त यूपी कांग्रेस के मीडिया प्रभारी राजीव त्यागी के मुताबिक 'सहारनपुर की गंगोह सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार शुरू से ही लगातार 27वें राउंड तक बढ़त बनाए हुए थे, लेकिन अंत में बीजेपी सरकार के इशारे पर स्थानीय प्रशासन ने कांग्रेस प्रत्याशी नोमान मसूद, चुनाव मतगणना के एजेंट और मीडिया कर्मियों को भी मतगणना स्थल से हटा दिया. चुनाव परिणाम में धांधली कर बीजेपी के प्रत्याशी को चुनाव जितवा दिया. इसके विरोध में कांग्रेस पार्टी ने वहां पर धरना-प्रदर्शन कर आक्रोश व्यक्त किया और लखनऊ में मुख्य चुनाव आयुक्त से मिलकर अपना विरोध दर्ज कराकर निष्पक्ष जांच एवं पुर्नमतगणना की मांग की है.

ये भी पढ़ें:

UP उपचुनाव: सपा को सर्वाधिक सफलता, रामपुर सीट बचाई, बीजेपी-बसपा की सीट कब्जाई

एक क्लिक में जानिए यूपी उपचुनाव परिणाम, बीजेपी 8, सपा 3 और कांग्रेस-बसपा शून्य

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 8:06 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...