अपना शहर चुनें

States

अजीत सिंह हत्याकांड: कुंटू सिंह और अखंड सिंह कोर्ट में पेश, घायल शूटर निकला सुनील राठी गैंग का सदस्य

अजीत सिंह हत्याकांड मामले में बुधवार को हत्यारोपी कुण्टू सिंह और अखंड सिंह की कोर्ट में पेशी हुई.
अजीत सिंह हत्याकांड मामले में बुधवार को हत्यारोपी कुण्टू सिंह और अखंड सिंह की कोर्ट में पेशी हुई.

लखनऊ (Lucknow) में अजीत सिंह हत्याकांड मामले में बुधवार को हत्यारोपी कुंटू सिंह और अखंड सिंह की कोर्ट में पेशी हुई. एसीजेएम तृतीय की कोर्ट में दोनों आरोपी पेश किए गए. बता दें बी-वारंट पर दोनों आरोपियों को पुलिस लखनऊ लाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 7:04 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. मऊ (Mau) के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या (Ajeet Singh Murder Case) मामले में घायल शूटर की पहचान हो गई है. पुलिस के अनुसार घायल शूटर अलीगढ़ का राजेश तोमर है. वह बागपत के सुनील राठी गैंग का सदस्य बताया जा रहा है. दरअसल 6 जनवरी को विभूति खंड में अजीत सिंह की ताबड़तोड़ दर्जनों गोलियां दागकर हत्या कर दी गई थी. शूटआउट में एक शूटर के घायल होने की बात सामने आई थी. दिलचस्प बात ये है कि जिस सुनील राठी गैंग से इस शूटर का संबंध सामने आया है, वही सुनील राठी जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या का आरोपी है.

उधर अजीत सिंह हत्याकांड मामले में बुधवार को हत्यारोपी कुंटू सिंह और अखंड सिंह की कोर्ट में पेशी हुई. एसीजेएम तृतीय की कोर्ट में दोनों आरोपी पेश किए गए. बता दें बी-वारंट पर दोनों आरोपियों को पुलिस लखनऊ लाई है.

बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह का नाम आया सामने



बता दें लखनऊ के विभूतिखंड इलाके के कठौता के पास 6 जनवरी को हुए गैंगवार में पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या मामले में पूर्व बाहुबली सांसद धनंजय सिंह का भी नाम सामने आया है. गैंगवार में घायल शूटर का इलाज करने वाले सुल्तानपुर के डॉ एके सिंह ने पुलिस पूछताछ में बताया कि धनंजय सिंह ने ही उन्हें फोनकर घायल शूटर के इलाज के लिए कहा था. अब पुलिस पूर्व संसद को नोटिस भेजकर जल्द पूछताछ के लिए बुलाने की तैयारी में है.


दरअसल, अजीत सिंह हत्याकांड की जांच में जुटी लखनऊ पुलिस को जानकारी मिली थी कि गैंगवार में घायल एक शूटर का इलाज सुल्तानपुर के एक डॉक्टर एके सिंह ने किया था. इसके बाद पुलिस ने नोटिस भेजकर डॉक्टर को पूछताछ के लिए सोमवार को बुलाया था. पुलिस एके सिंह ने बताया कि धनंजय सिंह ने उन्हें इलाज के लिए कहा था. उन्हें नहीं पता था कि घायल व्यक्ति अपराधी है और उसे गोली लगी है. डॉक्टर एके सिंह पर आईपीसी 176 की कार्रवाई के बाद 5 लाख रुपये के निजी मुचलके पर उन्हें थाने से छोड़ा गया.

कई बड़े नाम सामने आ सकते हैं

अब डॉक्टर के इस बयान के बाद पुलिस यह मानकर चल रही है कि अजीत सिंह हत्याकांड में धनंजय सिंह ने न सिर्फ शूटर्स मुहैया करवाए बल्कि उन्हें पुलिस से बचाने की भी कोशिश की. अब पुलिस धनंजय सिंह को नोटिस भेजकर पूछताछ के लिए बुलाने की तैयारी में है. पुलिस का मानना है कि धनंजय सिंह से पूछताछ के बाद कई और बड़े नाम सामने आ सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज