अखिलेश के 'मास्टर स्ट्रोक' ने दिलाई 2003 की याद, 17 साल पहले मुलायम ने बसपा तोड़कर UP में बना ली थी सरकार

यूपी में 2003 में बसपा के विधायक तोड़कर मुालयम सिंह यादव ने सपा सरकार बना ली थी. (File Photo)
यूपी में 2003 में बसपा के विधायक तोड़कर मुालयम सिंह यादव ने सपा सरकार बना ली थी. (File Photo)

Rajya Sabha Election: उत्तर प्रदेश में 17 साल पहले 2003 में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने कम विधायक होने के बावजूद बसपा (BSP) के 13 विधायक तोड़े थे और सरकार बना ली थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 4:04 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में 2018 में करीब आए समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samajwa Party) की राहें 2020 के खत्म होते-होते धुर विरोध के अपने पुराने इतिहास पर लौटती दिख रही हैं. इस बार सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने सियासी मास्टर स्ट्रोक से कदम बढ़ाया है. राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha Election) में बसपा प्रत्याशी के खिलाफ ऐन वक्त निर्दलीय प्रत्याशी प्रकाश बजाज उतारा गया, जिसे सपा समर्थित बताया जा रहा है. वहीं अब बसपा प्रत्याशी के 5 प्रस्तावक विधायकों ने अपने नाम वापस ले लिए हैं और इस समय कुल 6 बसपा विधायक सपा के पाले में दिखाई दे रहे हैं. इस पूरे घटनाक्रम से साफ है कि बसपा टूटने की कगार पर है. वैसे बसपा की ये टूट पहली बार नहीं है. लेकिन सपा से उसे हमेशा बड़ी चोट मिलती रही है.

ताजा घटनाक्रम ने 17 साल पहले की उस घटना की याद लोगों के जेहन में ताजा कर दी, जब सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) ने कम विधायक होने के बावजूद बसपा के 13 विधायक तोड़े थे और भाजपा के अप्रत्यक्ष समर्थन से सरकार बना ली थी. मामला हाईकोर्ट होते हुए सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था और आखिरकार बसपा के विधायकों की सदस्यता रद्द हुई थी लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी और सपा सरकार ने करीब-करीब अपना कार्यकाल पूरा कर लिया था. फिर 2007 में मायावती ने बहुमत की सरकार बनाई थी.






इस तरह BJP और BSP की राहें हुईं जुदा- जानें पूरी कहानी

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज