लाइव टीवी

CAA Protests: अखिलेश यादव बोले-यूपी सरकार की भाषा से गई कई लोगों की जान
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 22, 2019, 12:53 PM IST
CAA Protests: अखिलेश यादव बोले-यूपी सरकार की भाषा से गई कई लोगों की जान
लखनऊ में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के लोगों ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की. राष्ट्रीय अध्यक्ष के कहा कि हमनें शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील की. लेकिन दंगा कराने वाले सरकार में बैठे है.

लखनऊ में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के लोगों ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की. राष्ट्रीय अध्यक्ष के कहा कि हमनें शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील की. लेकिन दंगा कराने वाले सरकार में बैठे है.

  • Share this:
लखनऊ. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजनशिप (NRC) को लेकर उत्तर प्रदेश में दो दिनों से हो रहे विरोध प्रदर्शन के खिलाफ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने यूपी सरकार पर निशाना साधा. रविवार को लखनऊ में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी के लोगों ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी सरकार की भाषा से गई कई लोगों की जान गई है. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के कहा कि हमनें शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने की अपील की. लेकिन दंगा कराने वाले सरकार में बैठे है.

इससे पहले नागरिकता बिल के सवाल पर भी बोले अखिलेश उन्होंने कहा कि किसी भी जाति धर्म का कोई भी शरणार्थी इस देश में आया तो उसे अपना बना लिया गया. भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) जो अर्थव्यवस्था पर असफल है, नौकरी देने में नाकाम रही, रोजगार दे नहीं पा रही है. जब से सरकार बनी है उसने सिर्फ एक काम किया कि कैसे हिंदू-मुस्लिम के बीच खाई पैदा की जाये फिर चाहे धारा 370 हो या CAA हम उनसे जानना चाहते हैं कि धारा 371 कई जगह लगी है उसे क्यों नहीं हटा रहे? नौजवानों को नौकरी और रोजगार देने थे.

लेकिन आपने देश को गुमराह करने के लिए यह सीएए एक्ट बना डाला. आखिरकार आप की साजिश यही है समाज बंटा रहे, जातियां बटी रहे और उनकी राजनीति चमकती रहे. देश की जनता जागरूक है समझदार है इसीलिए सड़कों पर निकल कर आई है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश में दो दिनों से हो रहे विरोध प्रदर्शन के खिलाफ यूपी पुलिस (UP Police) ताबड़तोड़ एफआईआर (FIR) दर्ज कर गिरफ्तारियां कर रही है. पुलिस के अनुसार यूपी में अब तक 15 लोगों की मौत हुई है. वहीं मामले में प्रदेश के अलग-अलग जिलों के थानों में 124 मुकदमे दर्ज किए गए हैं. इनमें पुलिस ने अब तक 705 लोगों को गिरफ्तार किया है, वहीं 4500 लोग हिरासत में हैं.



ये भी पढ़ें:

25 दिसंबर को लखनऊ के दौरे पर आएंगे PM मोदी, अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा का करेंगे अनावरण

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 22, 2019, 12:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर