जानिए क्यों अखिलेश यादव ने कहा- ISRO वैज्ञानिकों का मनोबल तोड़ रही सरकार

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने ट्वीट कर कहा कि ऐसा कर सरकार देश के वैज्ञानिकों का मनोबल तोड़ रही है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 13, 2019, 11:58 AM IST
जानिए क्यों अखिलेश यादव ने कहा- ISRO वैज्ञानिकों का मनोबल तोड़ रही सरकार
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसरो वैज्ञानिकों के वेतन कटौती पर सरकार को घेरा
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 13, 2019, 11:58 AM IST
लखनऊ. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने गुरुवार को आरोप लगाते हुए कहा कि चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2)  की असफलता के बाद केंद्र सरकार ने इसरो (ISRO) के वैज्ञानिकों की वेतन में कटौती किया है. उन्होंने कहा कि ऐसा कर सरकार देश के वैज्ञानिकों का मनोबल तोड़ रही है. सपा अध्यक्ष ने प्रदेश की योगी सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि जनता को दुख और पीड़ा पहुंचाने का काम सरकार के द्वारा किया जा रहा है.

अखिलेश यादव ने एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए ट्वीट किया, "इसरो के वैज्ञानिकों के वेतन में की गयी बढ़ोतरी को काटना उनका मनोबल तोड़ने वाला काम है. जब सारा देश उनके साथ खड़ा है तो सरकार को भी दिखावा छोड़कर वैज्ञानिकों को सच में गले लगाना चाहिए, उनका वेतन काट कर हतोत्साहित नहीं करना चाहिए. सरकार के इस कृत्य से हर देशभक्त दुखी है."

दरअसल अखिलेश यादव ने एक इंग्लिश अखबार में छपी खबर का हवाला देते हुए सरकार पर ये आरोप लगाए. अखबार ने इसरो के एक वरिष्ठ वैज्ञानिक के हवाले से लिखा है कि वैज्ञानिकों के वेतन में तकरीबन 10 हजार तक की कटौती हुई है.

Akhilesh yadav

अखिलेश यादव ने ट्वीट कर इसरो वैज्ञानिकों की वेतन कटौती का मुद्दा उठायाइतना ही नहीं अखिलेश यादव ने एक और ट्वीट में केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि सरकार विज्ञापनों से ही अपने काम का प्रचार कर रही है. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार पाने अव्यवहारिक फैसले से जनता को पीड़ा पहुंचा रही है. उन्होंने बिजली मूल्य वृद्धि के फैसले पर भी सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि केंद्र से लेकर राज्य सरकार तक जन विरोधी फैसले लेकर जनता को पीड़ा पहुंचाया जा रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2019, 11:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...