UP: अखिलेश यादव ने बताया था 'बीजेपी का टीका', अब मुलायम सिंह की बहू अर्पणा ने लगवाई कोरोना वैक्सीन

अर्पणा यादव ने लगवाया कोरोना वैक्सीन.

अर्पणा यादव ने लगवाया कोरोना वैक्सीन.

 सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहु अपर्णा यादव (Aparna Yadav) ने राजधानी लखनऊ के एक अस्पताल में कोरोना वैक्सीन लगवाई और लोगों से भी जल्द वैक्सीनेशन करवाने की अपील की.

  • Share this:

Rajiv Pratap Singh

लखनऊ. देश-प्रदेश में कोरोना संक्रमण (COVID-19) से बचाने के लिए देश में बनी वैक्सीन को बीजेपी की वैक्सीन बताकर खुला विरोध करने वाले समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने भले ही अब तक वैक्सीन न लगवाई हो, लेकिन बुधवार को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहु अपर्णा यादव ने राजधानी लखनऊ स्थित लोकबंधु अस्पताल पहुच न सिर्फ कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई, बल्कि इस दौरान देश में बनी वैक्सीन की जमकर तारीफ करते हुए अन्य लोगों से भी जल्द से जल्द वैक्सीन लगवाकर कोरोना को हराने की अपील की है.

इस दौरान न्यूज 18 से बात करते हुए सपा संरक्षक मुलायम सिंह की बहु अपर्णा यादव ने बताया कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए प्रदेश में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान के तहत आज मैने राज नारायण लोकबंधु अस्पताल पहुच कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई है. वैक्सीन लगवाते वक्त पता ही नही चलता कि कब वैक्सीन लगा दी गई. वैक्सीन लगवाने के बाद मुझे किसी भी तरह की कोई समस्या नही हुई है. ये बहुत अच्छी प्रक्रिया है.

अर्पणा यादव ने की लोगों से अपील
अपर्णा यादव ने आगे बोलते हुए कहा कि अपने देश के डाक्टरों, रिसर्चर्स और वैज्ञानिकों ने बहुत मेहनत करके बहुत अच्छी वैक्सीन बनाई है. हमें गर्व होना चाहिए कि ये वैक्सीन भारत और भारत के डॉक्टरों द्वारा बनाई गई है. ऐसे में हम खासकर उत्तर प्रदेश के लोगों से हाथ जोडकर ये अपील करते है कि सभी लोग जल्द से जल्द वैक्सीनेशन सेंटर पहुंचे और वहां मौजूद वैक्सीन को जल्द से जल्द लगवाकर कोरोना को हराने का काम करें.

ये भी पढ़ें: COVID-19: दिल्ली हाईकोर्ट ने सरकार से कहा- तीसरी लहर आने का इंतजार नहीं करें 

दरअसल, इन दिनों उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए योगी सरकार द्वारा युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है. इसके तहत एक ओर जहां कोरोना से पीडित लोगों की जान बचाने के लिए उनके लिए न सिर्फ देश के विभिन्न राज्यों से लगातार ऑक्सीजन मंगवाई जा रही है. बल्कि उन्हें बेहतर से बेहतर इलाज भी मुहैय्या कराया जा रहा है. जबकि दूसरी ओर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश में टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट के साथ वैक्सीनेशन का भी एक बड़े स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है. जिसके तहत राजधानी लखनऊ समेत 23 जिलों में 18 वर्ष की आयु से ऊपर के लोगों का भी एक बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज