Assembly Banner 2021

गाजीपुर हिंसा पर बोले अखिलेश- CM मंच और सदन में कहते हैं 'ठोक दो', इसलिए हुई घटना

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

घटना के बाद वाराणसी जोन के एडीजी पीवी राम शास्त्री ने बताया कि , 'इस मामले में अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. सीएमओ के मुताबिक पुलिस कॉन्सटेबल की मौत सिर पर चोट लगने की वजह से हुई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 30, 2018, 3:15 PM IST
  • Share this:
गाजीपुर में निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं की पत्थरबाजी से हुई एक सिपाही की मौत के बाद रविवार को समाजवादी पार्टी ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधा. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि 'ये घटना इसलिए घटी क्योंकि सीएम सदन में हो या मंच पर हों, उनकी एक ही भाषा है, 'ठोक दो'.' उन्होंने कहा कि, 'कभी पुलिस को नहीं समझ आता किसे ठोंकना है, कभी जनता को नहीं समझ आता किसे ठोंकना है.'

यूपी की कानून व्यवस्था पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि सरकार पूरी तरह से फेल हो चुकी है. वहीं गाजीपुर की घटना को उन्होंने प्रशासन की नाकामयाबी बताया. अखिलेश ने दावा करते हुए कहा कि आज पोस्टिंग के लिए अधिकारी एनकाउंटर कर रहे है.

अखिलेश ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि देश व प्रदेश में इतनी धोखेबाज व झूठी सरकार पहले कभी नहीं आई जितनी की अब है. इन लोगों ने जवानों व किसानों किसी से भी किए हुए वादों को नहीं निभाया है. अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने लोगों ने एफडीआई का जितना विरोध किया उतना किसी ने नहीं किया. एफडीआई लागू होने से छोटे दुकानदार बर्बाद हो गए हैं.



घटना के बाद वाराणसी जोन के एडीजी पीवी राम शास्त्री ने बताया कि , 'इस मामले में अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. सीएमओ के मुताबिक पुलिस कॉन्सटेबल की मौत सिर पर चोट लगने की वजह से हुई. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आना अभी बाकी है.' उन्होंने बताया कि, 'मामले की जांच जारी है. 70-80 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.'



बता दें कि गाजीपुर में शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाराजा सुहेलदेव को समर्पित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए आए थे. यहां उन्होंने महाराजा सुहेलदेव के नाम पर एक पोस्ट स्टांप जारी कर रैली को संबोधित किया. मृतक पुलिस कॉन्स्टेबल सुरेश वत्स उसी सभा में ड्यूटी पूरी कर के वापस लौट रहे थे. तभी गाजीपुर में विरोध प्रदर्शन के दौरान निशाद पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पत्थरबाजी शुरू कर दी. इसी पत्थरबाजी में वत्स की मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें:

गाजीपुर हिंसा: कांस्‍टेबल की मौत को निषाद पार्टी ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

गोपाल गुप्ता बने IPS एसोसिएशन के नए अध्यक्ष, छाया रहा काडर प्रबंधन का मुद्दा

ठंड से बचने के लिए कमरे में जलाया 'रूम हीटर', दम घुटने से मां-बेटे की मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज