आज़म के बहाने सपा कार्यकर्ताओं में जान फूंकने में जुटे अखिलेश यादव, रामपुर में शक्ति प्रदर्शन

जौहर यूनिवर्सिटी मामले में आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम के खिलाफ जिला प्रशासन की कार्रवाई के बहाने गुरुवार को समाजवादी पार्टी शक्ति प्रदर्शन करेगी.

Amit Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 1, 2019, 8:53 AM IST
आज़म के बहाने सपा कार्यकर्ताओं में जान फूंकने में जुटे अखिलेश यादव, रामपुर में शक्ति प्रदर्शन
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव
Amit Tiwari
Amit Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 1, 2019, 8:53 AM IST
लोकसभा चुनाव में हार और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ गठबंधन टूटने के बाद हताश कार्यकर्ताओं में जान फूंकने के लिए सही समय के इंतजार में बैठे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को यह मौका पार्टी के सांसद आज़म खान के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई से मिलती दिख रही है. जौहर यूनिवर्सिटी मामले में आज़म और उनके बेटे अब्दुल्ला आज़म के खिलाफ जिला प्रशासन की कार्रवाई के विरोध में समाजवादी पार्टी आज यानी गुरुवार को अपना शक्ति प्रदर्शन करेगी. साथ ही इस बहाने निराश और हताश कार्यकर्ताओं को फिर से एक्टिव करेगी.

कार्यकर्ताओं को रामपुर कूच का निर्देश
अखिलेश यादव ने बुधवार को पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि वो रामपुर पहुंचें और आज़म खान के खिलाफ जिला प्रशासन की मनमानी के खिलाफ धरना-प्रदर्शन करें. गुरुवार को होने वाले विरोध-प्रदर्शन के लिए बदायूं, बरेली, संभल, मुरादाबाद, बिजनौर, बागपत समेत आस-पास के तमाम सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को जुटने का निर्देश दिया गया है. कोशिश है कि पार्टी जहां एक ओर अपने सबसे कद्दावर नेता के साथ खड़ी दिखना चाहती है, साथ ही विधानसभा उपचुनाव से पहले सुस्त और निराश कैडर को एक्टिव मोड में लाना चाहती है.

सपाइयों ने लखनऊ में राजभवन घेरा

बुधवार को जौहर यूनिवर्सिटी में छापे के दौरान पुलिस की कार्रवाई में बाधा डालने के आरोप में आज़म खान के विधायक बेटे अब्दुल्ला आजम की गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही पार्टी के तमाम नेता सड़कों पर उतर आए और लखनऊ स्थित राजभवन का गेट घेर लिया. इस दौरान घंटों उनकी पुलिस से नोकझोंक हुई. इसके बाद पुलिस ने सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, विधानपरिषद के कई सदस्यों समेत अन्य को हिरासत में ले लिया गया. हालांकि, देर रात सभी को छोड़ दिया गया.

samajwadi party protest
राजभवन को घेरते हुए हिरासत में लिए गए प्रदेश अध्यक्ष व अन्य


अखिलेश पर लग रहा था आरोप
Loading...

दरअसल, लोकसभा चुनाव में हार के बाद बसपा के आरोपों पर अखिलेश की चुप्पी से उनके नेतृत्व पर सवाल उठ रहे थे. इतना ही नहीं हार की समीक्षा की जगह लंदन में छुट्टियां मनाने के साथ ही आज़म पर कार्रवाई के खिलाफ कोई एक्शन न लेना भी सवाल उठा रहा था. इतना ही नहीं पिछले दिनों सोनभद्र नरसंहार के मुद्दे पर सरकार को घेरने में वो प्रियंका गांधी से पिछड़ते नजर आए. लेकिन, उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट और अब आज़म के खिलाफ जिल प्रशासन की कार्रवाई को लेकर सपाई एक बार फिर रंग में दिख रहे हैं.

ये भी पढ़ें:  

'गैंगरेप पीड़िता के परिवार का प्रशासन से उठ गया विश्वास'

पत्नी हसीन जहां की शिकायत पर क्रिकेटर शमी फिर मुश्किल में

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 7:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...