यूपी के बाद अखिलेश यादव ने भंग की समाजवादी पार्टी की दिल्ली इकाई
Lucknow News in Hindi

यूपी के बाद अखिलेश यादव ने भंग की समाजवादी पार्टी की दिल्ली इकाई
यूपी के बाद अखिलेश यादव ने भंग की समाजवादी पार्टी की दिल्ली इकाई

उधर योगी सरकार में पूर्व मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने शुक्रवार को ही लखनऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की.

  • Share this:
समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) एक्शन में आते दिख रहे हैं. अखिलेश यादव ने सोमवार को समाजवादी पार्टी की दिल्ली की सभी इकाइयों को भंग कर दिया है. इससे पहले 23 अगस्त को अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की सभी इकाइयों को भंग कर दिया था. इनमें यूथ, जिला सभी प्रकार की कार्यकारिणी शामिल हैं. हालांकि प्रदेश अध्यक्ष अभी बरकरार रखा है. राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इससे पहले यूपी प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल को छोड़कर समजवादी पार्टी की राज्य व जिला कार्यकारिणी सभी प्रकोष्ठ सहित भंग कर दी थी.

कार्यकर्ताओं में असंतोष

वैसे अखिलेश यादव के इस एक्शन का इंतजार राजनीतिक विश्वलेषक लोकसभा चुनाव में मिली पार्टी को हार के बाद से ही कर रहे थे. चुनाव बाद अखिलेश ने मीडिया विंग काे भंग का इसका संकेत भी दिया था लेकिन उसके बाद कोई एक्शन सामने नहीं आया. यही नहीं तमाम मुद्दों पर समाजवादी पार्टी आलाकमान ने चुप्पी ही साधे रखी, इससे धीरे-धीरे संगठन से जुड़े कार्यकर्ताओं में असंतोष की खबरें आने लगी थीं.



सपा ने दिल्ली की सभी इकाइयों को किया भंग
सपा ने दिल्ली की सभी इकाइयों को किया भंग

उधर योगी सरकार में पूर्व मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने शुक्रवार को ही लखनऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की. सपा मुख्यालय पर दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे बातचीत हुई, जिसके बाद गठबंधन को लेकर कयासों का बाजार गर्म है. अटकलें लगाई जा रही हैं कि सूबे में होने वाले आगमी उपचुनाव में गठबंधन को लेकर दोनों नेताओं के बीच मुलाकात हुई है.

राजभर की मुलाकात

साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि अनिल राजभर को प्रमोट कर योगी मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री बनाए जाने से भी ओमप्रकाश राजभर बेचैन हैं. यही वजह है कि उन्होंने समाजवादी पार्टी अध्यक्ष से आगे की रणनीति पर चर्चा की है. ताकि अपने राजभर वोट में सेंध लगने से रोका जा सके.

ये भी पढ़ें:

बुलंदशहर हिंसा: आरोपियों के स्वागत पर बोले केशव प्रसाद मौर्य- राई का पहाड़ न बनाए विपक्ष

किसी की मां ने दूध नहीं पिलाया जो हमारा टिकट काट दे: BJP सासंद साक्षी महाराज

मायावती ने बीजेपी का समर्थन कर फिर चौंकाया, कहीं ये वजह तो नहीं!

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading