Home /News /uttar-pradesh /

पीयूष जैन का बीजेपी से संबंध, सपा की रैलियों में भीड़ देखकर घबराई सरकार, पढ़िए अखिलेश यादव का Exclusive Interview

पीयूष जैन का बीजेपी से संबंध, सपा की रैलियों में भीड़ देखकर घबराई सरकार, पढ़िए अखिलेश यादव का Exclusive Interview

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना

UP Assembly Election 2022: अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने इत्र कारोबारी पीयूष जैन (Piyush Jain) के ठिकानों पर छापे, सपा की रैलियों में भीड़, गंगा सफाई, किसानों के मुद्दे, कानून व्यवस्था समाते तमाम मुद्दों पर खुलकर बात की. समाजवादी इत्र बनाने वाले पीयूष जैन के ठिकानों पर आयकर और जीएसटी विभाग की छापेमारी में मिले अकूत संपत्ति से अखिलेश यादव ने किनारा करते हुए कहा कि उनका संबंध सपा से नहीं बल्कि बीजेपी से है. अखिलेश यादव ने कहा कि कानपुर के जिस व्यापारी के यहां छापा पड़ा है उसका संबंध सपा से नहीं, बल्कि बीजेपी से भी है.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. आगामी यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) को लेकर सत्तारूढ़ बीजेपी (BJP) और मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में जुबानी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है. NEWS18 के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने योगी सरकार (Yogi Government) और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने इत्र कारोबारी पीयूष जैन के ठिकानों पर छापे, सपा की रैलियों में भीड़, गंगा सफाई, किसानों के मुद्दे, कानून व्यवस्था समाते तमाम मुद्दों पर खुलकर बात की. समाजवादी इत्र बनाने वाले पीयूष जैन के ठिकानों पर आयकर और जीएसटी विभाग की छापेमारी में मिले अकूत संपत्ति से अखिलेश यादव ने किनारा करते हुए कहा कि उनका संबंध सपा से नहीं बल्कि बीजेपी से है. अखिलेश यादव ने कहा कि कानपुर के जिस व्यापारी के यहां छापा पड़ा है उसका संबंध सपा से नहीं, बल्कि बीजेपी से भी है.

लाल टोपी समेत तमाम मुद्दों पर बोलते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी की रैलियों में उमड़ रही भीड़ से बीजेपी घबरा गई है. इसलिए ऐसी भाषा का प्रयोग किया जा रहा है. अखिलेश यादव ने कहा कि उनका और उनकी पार्टी से जुड़े अहम लोगों के फ़ोन टैप करवाए जा रहे हैं. AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी से गठबंधन से भी उन्होंने इनकार किया.  उन्होंने कहा कि क्षेत्री दलों को साथ लेकर चल रहे हैं. क्षेत्रीय दलों का साथ मिल रहा है. उनके भी कार्यकर्त्ता हैं. चाचा शिवपाल यादव से भी बात हो चुकी है.

सपा सरकार की योजनाओं को रोकने का आरोप
अखिलेश यादव ने विकास और उनकी सरकार की योजनाओं पर बोलते हुए कहा कि लखनऊ में जय प्रकाश नारायण इंटरनेशनल सेंटर लखनऊ की सबसे ऊंची इमारत है. लेकिन इस इमारत का काम इस  सरकार ने रुकवा दिया. हमारी सरकार में किसी पुरानी योजनाओं को नहीं रखा गया. हमारी सरकार में पुरानी योजनाओं को और बेहतर किया. अखिलेश यादव यहीं नहीं रुके और महंगाई के मुद्दे पर भी सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि ‘बिजली और सिंचाई महंगी है. किसानों को महंगी खाद ख रीदनी पड़ रही है. आज किसान बदलाव चाहता है. यूपी की जनता बदलवा चाहती है.

किसानों की आय आधी हो गई
अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्र की सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करे का वायदा, लेकिन आज किसानों की आय आधी हो गई है. किसानों की आय दोगुनी नहीं हुई. अखिलेश यादव यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि डिप्टी CM पर आपराधिक मामले हैं. सबसे ज़्यादा केस BJP विधायकों पर हैं. टॉप 10 अपराधियों की लिस्ट नहीं दी.  उन्होंने पूछा  टेनी पर बुलडोज़र कब चलेगा? गृह राज्य मंत्री पर कार्रवाई कब होगी? हमें लखीमपुर नहीं जाने दिया गया. हमारे कार्यकर्ता लखीमपुर गए थे.

जनता अब योग्य सरकार ढूंढ रही है
NEWS18 से बातचीत में अखिलेश यादव ने पूछा आज UP में इतनी महंगाई क्यों है? यूपी में इतनी बेरोज़गारी क्यों है? योगी जी के इतने काम से क्या फ़ायदा? प्रदेश पत्रकारों पर केस में नंबर वन है. बेरोज़गारी में नंबर वन है. उन्होंने कहा कि किसानों के फ़ायदे की नीति बनाएंगे. घोषणापत्र में किसानों के लिए ऐलान करेंगे. जनता अब योग्य सरकार ढूंढ रही है. बीजेपी का हर विज्ञापन झूठा है. बीजेपी की हर बात झूठी है. लोग अब बीजेपी को समझ गए हैं. बीजेपी नेता लोगों को बहका रहे हैं. सपना लैपटॉप का दिखाया गया था. वोट के लिए टैबलेट दे रहे हैं. एक करोड़ नौकरियों की सूची कहां है. आपने डिजिटल करके क्या किया? यूपी के लिए हमारे पास विज़न है. हम यूपी को नए रास्ते पर ले जाएंगे. ये नई समाजवादी पार्टी है.

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर