अखिलेश यादव ने अम्बेडकर जयंती पर सपा की 'बाबा साहेब वाहिनी' के गठन का लिया संकल्प

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अम्बेडकर जयंती पर सपा की बाबा साहेब वाहिनी के गठन का संकल्प लिया है (File Photo)

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अम्बेडकर जयंती पर सपा की बाबा साहेब वाहिनी के गठन का संकल्प लिया है (File Photo)

Lucknow News: समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhiesh Yadav) ने डॉ भीमराव अम्बेडकर जयंती पर पूरे प्रदेश, देश और जिलों में सपा की बाबा साहेब वाहिनी के गठन का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2021, 12:33 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने शनिवार को बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि डॉ भीमराव अम्बेडकर के विचारों पर सक्रिय करेगी और प्रदेश में बाबा साहेब वाहिनी का गठन करेगी. अखिलेश यादव ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है.

अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है, “संविधान निर्माता आ. बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी के विचारों को सक्रिय कर असमानता-अन्याय को दूर करने व सामाजिक न्याय के समतामूलक लक्ष्य की प्राप्ति के लिए, हम उनकी जयंती पर जिला, प्रदेश व देश के स्तर पर सपा की ‘बाबा साहेब वाहिनी’ के गठन का संकल्प लेते हैं.”

akhilesh on ambedkar
सपा प्रमुख अखिलेश यादव का ट्वीट


इससे पहले 'दलित दीवाली' का किया था आह्वान
बता दें पिछले दिनों ही अखिलेश यादव ने डॉ भीमराव अम्बेडकर जयंती पर दलित दीपावली मनाने का आह्वान किया था. उन्होंने बीजेपी सरकार पर तंज करते हुए ट्वीट लिखा था, “भाजपा के राजनीतिक अमावस्या के काल में वो संविधान ख़तरे में है, जिससे मा. बाबासाहेब ने स्वतंत्र भारत को नयी रोशनी दी थी. इसलिए मा. बाबासाहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी की जयंती, 14 अप्रैल को समाजवादी पार्टी उप्र, देश व विदेश में ‘दलित दीवाली’ मनाने का आह्वान करती है.”

कोरोना पर स्टार प्रचारक से पूछे सवाल 

इससे पहले अखिलेश यादव ने नाम लिए बिना ट्वीट कर कुछ सवाल पूछे हैं. उन्होंने लिखा है कि कोरोना पर स्टार प्रचारक से सवाल- शामली उप्र में कोरोना के टीके की जगह कुत्ते के काटने पर लगानेवाले इंजेक्शन की जाँच में क्या मिला? टीके बाद भी स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना कैसे हुआ? टेस्ट कम व रिपोर्ट देर से क्यों? अस्पताल में बेड व जानबचानेवाली दवाइयों की कमी क्यों?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज