लाइव टीवी

पुलिस कमिश्नरी पर अखिलेश ने उठाए सवाल, कहा- लॉ एंड ऑर्डर में ऐसे बदलाव आने वाला नहीं

भाषा
Updated: January 14, 2020, 9:57 PM IST
पुलिस कमिश्नरी पर अखिलेश ने उठाए सवाल, कहा- लॉ एंड ऑर्डर में ऐसे बदलाव आने वाला नहीं
अखिलेश ने कहा कि बीजेपी सरकार के तीन साल पूरे होते-होते अब तथाकथित सुधारात्मक कदम उठाए जाने का अर्थ तो यही है कि अभी तक अपराधों पर नियंत्रण नहीं रहा.

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि बीजेपी के पास या तो भविष्य को लेकर कोई सोच नहीं है या वह इसके लिए सक्षम ही नहीं है.

  • Share this:
लखनऊ. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम (Police Commissionerate System) लागू किए जाने के सरकार के फैसले पर सवाल उठाए. अखिलेश ने मंगलवार को कहा कि नए-नए प्रयोग से अपराध कैसे कम होंगे और सिर्फ अधिकारियों की अदला-बदली से व्यवस्था में बदलाव आने वाला नहीं है. बता दें, हाल ही में, योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम को मंजूरी दे दी है.

यूपी में अपराधों पर नियंत्रण नहीं 
यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार के तीन साल पूरे होते-होते अब तथाकथित सुधारात्मक कदम उठाए जाने का अर्थ तो यही है कि अभी तक अपराधों पर नियंत्रण नहीं रहा. उन्होंने कहा कि जनता पर लगातार अत्याचार हो रहा है. बलात्कार, हत्या, लूट और अपहरण की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. इस सबसे ध्यान भटकाने के लिए ही बीजेपी ने अपना जाना पहचाना टोटका फिर अपनाया है.

बीजेपी को विकास से क्यों है एलर्जी

उन्होंने कहा कि बीजेपी को विकास से जाने क्यों एलर्जी है. बीजेपी के पास या तो भविष्य को लेकर कोई सोच नहीं है या वह इसके लिए सक्षम ही नहीं है. सपा नेता ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार के समय किए गए कार्यों के प्रति बीजेपी का उपेक्षापूर्ण रवैया और उनके कामों पर अपना ठप्पा लगाना उसकी घटिया मानसिकता का ही परिचायक है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी नफरत फैलाती है और भेदभाव की राजनीति करती है. उसने समाज को बांटने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है.

ये भी पढ़ें-सीएम योगी बोले- एयर स्ट्राइक के बाद बदल गई पाकिस्तान की भाषा, PoK जाने का खतरा

BSP ने लोकसभा में चौथी बार बदला अपना नेता, रितेश पांडेय को दी जिम्मेदारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 7:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर