अखिलेश के तेवर बदले, बोले- कांग्रेस ने गठबंधन की बजाय खुद पर ज्यादा ध्यान दिया

मीडिया से बात करते हुए गुरुवार को अखिलेश ने कहा कि अगर वास्तव में कांग्रेस, बीजेपी को हराना चाहती थी तो सपा बसपा गठबंधन का सहयोग करना चाहिए था.

News18Hindi
Updated: March 15, 2019, 12:20 AM IST
अखिलेश के तेवर बदले, बोले- कांग्रेस ने गठबंधन की बजाय खुद पर ज्यादा ध्यान दिया
अखिलेश यादव (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: March 15, 2019, 12:20 AM IST
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कांग्रेस के प्रति शख्त रुख अपनाया है. अखिलेश ने सपा-बसपा गठबंधन में शामिल न होने पर कांग्रेस पर आरोप लगाया कि पार्टी ने पीएम नरेंद्र मोदी को हटाने के बजाय खुद को मजबूत करने पर ज्यादा ध्यान दिया है.

ऐसा पहली बार था जब अखिलेश कांग्रेस पर हमलावर हुए. कांग्रेस द्वारा उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी करने के एक दिन बाद अखिलेश यादव का यह बयान आया है. वहीं मेरठ के एक अस्पताल में बुधवार को प्रियंका गांधी वाड्रा ने भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात की थी. जिस पर राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि यह मायावती के गढ़ में सेंधमारी है.

मीडिया से बात करते हुए गुरुवार को अखिलेश ने कहा कि अगर वास्तव में कांग्रेस, बीजेपी को हराना चाहती थी तो सपा-बसपा गठबंधन का सहयोग करना चाहिए था. उन्होंने कहा, 'गठबंधन की तैयारी काफी पहले से शुरू हो गई थी. सपा और बसपा ने गोरखपुर और अन्य उपचुनावों में भाजपा को हराने के लिए कड़ी मेहनत की थी. दोनों पार्टी के गठबंधन ने जीत भी हासिल की. देश मोदी सरकार को हटाना चाहता है, लेकिन कांग्रेस केवल खुद को मजबूत करना चाहती है.'



अखिलेश ने कहा, अगर कांग्रेस वास्तव में बीजेपी को रोकना चाहती है, तो उसे सपा-बसपा गठबंधन का साथ देना चाहिए था. क्योंकि हम बीजेपी को रोकने के लिए अच्छा काम कर रहे हैं. कांग्रेस को केवल उत्तर प्रदेश ही नहीं, बल्कि अन्य राज्यों में भी बीजेपी को हराने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.'

अखिलेश यादव ने दावा किया कि जब यूपी में गठबंधन हो रहा था. तब कांग्रेस राज्य विधानसभा चुनावों में अपनी जीत का जश्न मनाने में व्यस्त थी. उन्होंने कहा, 'हमने अन्य राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन दिया और हमारे अकेले विधायक ने उनका सपोर्ट किया लेकिन वे वादा करने के बाद भी उन्हें मंत्री पद देना भूल गए. उन्हें हमें बताना चाहिए था कि वे हमारे विधायक को मध्य प्रदेश में मंत्री नहीं बना सकते हैं.'

ये भी पढ़ें:- राफेल पर राहुल गांधी बोले- मनोहर पर्रिकर से शुरू करनी चाहिए गुम दस्तावेजों की जांच

ये भी पढ़ें:- अटॉर्नी जनरल का U-टर्न, कहा- चोरी नहीं हुईं राफेल की फाइलें, उनकी फोटोकॉपी करवाई गई
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...