लाइव टीवी

संविधान बचाने के लिए धरने पर बैठी महिलाओं पर लाठी बरसाना कतई बर्दाश्त नहीं: अखिलेश यादव
Lucknow News in Hindi

Alauddin | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 25, 2020, 8:25 AM IST
संविधान बचाने के लिए धरने पर बैठी महिलाओं पर लाठी बरसाना कतई बर्दाश्त नहीं: अखिलेश यादव
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव

अखिलेश यादव में कहा कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर के मुद्दों पर असहमति प्रदर्शित करने के लिए धरना दे रही महिलाओं के साथ बीजेपी सरकार लगातार बदसलूकी करती रही है.

  • Share this:
लखनऊ. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने लिखित में जारी एक बयान में कहा है कि संविधान बचाने के लिए सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) के विरोध में जारी धरना प्रदर्शन में सत्ता का दमन जारी है. अलीगढ़ में पुलिस द्वारा महिलाओं पर लाठीचार्ज निंदनीय है. बीजेपी (BJP) सरकार ने इस तरह क्रूरता की तमाम हदें पार कर दी हैं. अहिंसात्मक और शांतिपूर्ण धरना देती महिलाओं पर लाठी बरसाना अनैतिकता है."

अखिलेश यादव में कहा कि "सीएए, एनआरसी और एनपीआर के मुद्दों पर असहमति प्रदर्शित करने के लिए धरना दे रही महिलाओं के साथ बीजेपी सरकार लगातार बदसलूकी करती रही है. लोकतंत्र में इसकी कतई इजाजत नहीं दी जा सकती है. लोकतांत्रिक प्रणाली में असहमति को स्वीकृति दी जाती है और यह नागरिकों का संवैधानिक अधिकार है."

डबल इंजन की सरकार फिर विकास क्यों नहीं?

अखिलेश यादव ने लिखित बयान में कहा कि "देश में हो या प्रदेश में हर जगह बीजेपी के राज में कानून और व्यवस्था इस तथाकथित डबल इंजन की सरकार में ठप्प पड़ी है. सत्ताधीशों को लोकलाज की कतई परवाह नहीं है. कोई भी संवेदनशील व्यक्ति महिलाओं की गोद में ठिठुरते मासूम बच्चों के साथ दुर्व्यवहार की सोच भी नहीं सकता है. बीजेपी ने क्रूरता और असभ्यता की सभी सीमाएं तोड़ दी हैं. बीजेपी सरकार का यह आचरण अमानवीय है."



अखिलेश यादव से समाजवादी पार्टी कार्यालय में भेंट करने वालों ने पुलिस और प्रशासन के व्यवहार की शिकायतें भी की. लोगों ने कहा कि "किसानों पर अत्याचार हो रहा है. पीड़ितों, बीमारों को इलाज की सुविधा भी नहीं है. स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह बर्बाद हो गई हैं. बीजेपी उत्तर प्रदेश को पूरी तरह उजाड़ने पर आमादा है. प्रशासन को सत्ता का अनुचर बना दिया गया है.

ये भी पढ़ें -सपा सांसद आजम खान और उनके परिवार की अग्रिम जमानत याचिका खारिज, ये है मामला
सुन्नी वक्फ बोर्ड ने स्वीकार की अयोध्या में पांच एकड़ जमीन, मस्जिद के साथ बनेगा चैरिटेबल हॉस्पिटल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 8:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर