अखिलेश के समर्थन में आईं मायावती, Tweet कर कहा- गठबंधन से बौखला गई है बीजेपी

मायावती ने ट्वीट कर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा कि सपा-बसपा गठबंधन से केंद्र और यूपी की सरकार इतना भयभीत और बौखला गई हैं कि वह राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर तुल गई हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 12, 2019, 8:10 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: February 12, 2019, 8:10 PM IST
समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोके जाने और प्रयागराज जाने की परमिशन न मिलने के बाद सूबे की राजनीति में एक बार फिर उबाल आ गया है. जहां एक तरफ सपा कार्यकर्ता प्रदर्शन पर उतारू हो गए हैं तो दूसरी तरफ बसपा सुप्रीमो मायावती भी अखिलेश के समर्थन में आ गई हैं. मायावती ने ट्वीट कर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने लिखा कि सपा-बसपा के गठबंधन से केंद्र और यूपी की सरकार इतना भयभीत और बौखला गई हैं कि वह राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर तुल गई हैं.

अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोका गया, एयरपोर्ट पर हुई 'बदसलूकी'- Video वायरल

मायावती ने दो ट्वीट कर अखिलेश यादव को रोके जाने की निंदा की. उन्होंने लिखा, "समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को आज इलाहाबाद नहीं जाने देने कि लिये उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक लेने की घटना अति-निंदनीय व बीजेपी सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या की प्रतीक. क्या बीजेपी की केन्द्र व राज्य सरकार बीएसपी-सपा गठबंधन से इतनी ज्यादा भयभीत व बौखला गई है कि उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर वह तुल गई है? अति दुर्भाग्यपूण. ऐसी आलोकतंत्रिक कार्रवाईयों का डट कर मुकाबला किया जायेगा."



OPINION: जानिए क्या है प्रियंका गांधी का यूपी में 'विनिंग प्लान'?

गौरतलब है कि मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रसंघ के वार्षिकोत्सव समारोह में  शामिल होने के लिए जाना था. जैसे ही अखिलेश लखनऊ एयरपोर्ट से प्रयागराज जाने के लिए अपने चार्टर्ड प्लेन में सवार होने जा रहे थे. तभी उनके प्लेन को रोक दिया गया. इस दौरान उनके साथ धक्का-मुक्की का वीडियो भी सामने आया. जिसके बाद भारी संख्या में सपा कार्यकर्ता एयरपोर्ट पहुंच गए. उधर सपा के तरफ से जिला प्रशासन की अनुमति का पत्र भी जारी किया गया. इसके ठीक बाद इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का भी एक पत्र सामने आया, जिसमें किसी भी राजनैतिक व्यक्ति के कैंपस में आने पर रोक का हवाला देते हुए अनुमति नहीं दी गई.

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सफाई देते हुए कहा कि अखिलेश यादव के प्रयागराज जाने से हिंसा भड़क सकती थी. समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को अराजकता से बाज आना चाहिए. उन्होंने कहा कि 10 दिन पहले ही अखिलेश कुंभ नहाकर आए हैं. लेकिन इस बार ऐसी सूचना थी कि उनके जाने से सपाई हिंसा कर सकते हैं. कुंभ की सुरक्षा को देखते हुए उन्हें जाने की इजाजत नहीं दी गई.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास,सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

ये भी पढ़ें: 

अखिलेश यादव का योगी सरकार पर हमला- यूपी में 'रोको और ठोको' नीति नहीं चलेगी

अखिलेश यादव के प्रयागराज जाने से हो सकती थी हिंसा: सीएम योगी
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर