निषाद पार्टी के NDA में शामिल होने पर अखिलेश का तंज, कहा- मौसेरों की नैया डूबना तय

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के लिए यह घाटे का सौदा है, क्योंकि जनता ने सांसद को नहीं, उनके पीछे एकजुट महागठबंधन को जिताया था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 4, 2019, 3:17 PM IST
निषाद पार्टी के NDA में शामिल होने पर अखिलेश का तंज, कहा- मौसेरों की नैया डूबना तय
अखिलेश यादव (फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 4, 2019, 3:17 PM IST
निषाद पार्टी के एनडीए में शामिल होने पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने तंज कसा है. अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के लिए यह घाटे का सौदा है, क्योंकि जनता ने सांसद को नहीं, उनके पीछे एकजुट महागठबंधन को जिताया था. उन्होंने कहा कि चुनाव में इन मौसेरे की नैया डूबना तय है.

सपा अध्यक्ष ने ट्वीट किया ‘विकास’ पूछ रहा है, "गोरखपुर में सांसद जी को मठाधीशी का जो झोला भर प्रसाद मिला है, क्या उसे वो पूरा गटक जाएंगे या किसी से बाँटेंगे भी?. ये भाजपा का घाटे का सौदा है क्योंकि जनता ने सांसद को नहीं, उनके पीछे एकजुट महागठबंधन को जिताया था. चुनाव में इन मौसेरे की नैया डूबना तय है."


Loading...

बता दें कि गोरखपुर में सपा-बसपा गठबंधन को झटका देते हुए निषाद पार्टी गुरुवार को एनडीए में शामिल हो गई. यूपी बीजेपी प्रभारी जेपी नड्डा और मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह की मौजूदगी में निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय सिंह एनडीए के हिस्सा बन गए. वहीं उनके बेटे और गोरखपुर से मौजूदा सांसद प्रवीण निषाद ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की.

ये भी पढ़ें-‘अमेठी की जनता कह रही थी भाग राहुल भाग, तभी वायनाड भागे कांग्रेस अध्यक्ष’

गोरखपुर उपचुनाव में प्रवीण निषाद ने सपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी. इस बार भी निषाद पार्टी अखिलेश यादव के साथ मिलकर ही चुनाव लड़ना चाहती थी. इसके लिए बकायदा लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की भी की गई थी. उस समय कहा जा रहा था कि निषाद पार्टी के लिए गठबंधन दो सीट दे सकती है. लेकिन मुलाकात के दो दिन बाद ही पाला बदलते हुए पार्टी ने एनडीए में शामिल होने का ऐलान कर दिया.

ये भी पढ़ें-

 स्मृति बोलीं- राहुल 'लापता सांसद', एक बार अमेठी आकर देखें वायनाड के लोग

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 4, 2019, 2:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...