लाइव टीवी

अल हिंद ब्रिगेड ने Whatsapp पर मैसेज भेजकर कमलेश तिवारी की हत्या की ली जिम्मेदारी

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 19, 2019, 10:35 AM IST
अल हिंद ब्रिगेड ने Whatsapp पर मैसेज भेजकर कमलेश तिवारी की हत्या की ली जिम्मेदारी
यूपी सरकार ने कमलेश तिवारी हत्याकांड की जांच एसआईटी को सौंप दी है (फाइल फोटो)

संगठन के नाम से भेजे गए मैसेज में लिखा है, 'हम अल-हिंद ब्रिगेड, कमलेश तिवारी की हत्या की जिम्मेदारी लेते हैं, जिन्होंने इस्लाम और मुसलमानों को बदनाम करने की कोशिश की थी. ऐसा और होगा.'

  • Share this:
लखनऊ. हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के कमलेश तिवारी की हत्या (Kamlesh Tiwari Murder) को लेकर हड़कंप मचा हुआ है. उत्तर प्रदेश सरकार ने इसकी जांच का जिम्मा एसआईटी को सौंपा है. इस बीच अल-हिंद ब्रिगेड (Al-Hind Brigade) नाम के एक संगठन ने शुक्रवार देर रात कमलेश तिवारी की हत्या की जिम्मेदारी ली है. हालांकि इस संगठन के दावे की सत्यता की पुष्टि अभी नहीं की जा सकती. संगठन के नाम से भेजे गए मैसेज में लिखा है, 'हम अल-हिंद ब्रिगेड, कमलेश तिवारी की हत्या की जिम्मेदारी लेते हैं, जिन्होंने इस्लाम और मुसलमानों को बदनाम करने की कोशिश की थी. ऐसा और होगा.'

संगठन ने ऐसा दावा करते एक व्हाट्सएप संदेश (Whatsapp Message) भेजा है, जिसे व्यापक रूप से प्रसारित किया गया था.

कमलेश तिवारी की तस्वीर के साथ संदेश में लिखा था
इस संदेश में कमलेश तिवारी की एक तस्वीर के साथ लिखा है, 'कमलेश तिवारी एक उपद्रवी था, जो इस्लाम और मुसलमानों की ओर अंगुली उठाता था. अल-हिंद ब्रिगेड कमलेश तिवारी की हत्या की जिम्मेदारी लेता है. ऐसा और देखने के लिए तैयार रहो. युद्ध शुरू हो गया है.' इस संगठन के किसी वैश्विक आतंकवादी संगठन के साथ संबंध हैं या नहीं, इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिली है.

जांच के लिए सभी एंगल पर गौर किया जा रहा है: एडीजीपी
इस बीच, पुलिस ने कहा कि वो सभी बिंदुओं से घटना की जांच कर रही है. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) पीवी रामास्वात्री ने पीटीआई को बताया कि, जांच के लिए सभी एंगल पर गौर किया जा रहा है और किसी भी नतीजे पर आना जल्दबाजी होगी.

गला रेत कर की गई थी हत्या
Loading...

बता दें कि कमलेश तिवारी की शुक्रवार को लखनऊ स्थित उनके घर में हत्या कर दी गई थी. पहले उन्हें गोली मारे जाने की खबर सामने आई थी, लेकिन डॉक्टरों ने बाद में बताया था कि कमलेश तिवारी का किसी धारदार हथियार से गला रेता गया था. उधर पुलिस ने मौके से एक रिवाल्वर भी बरामद किया है. पुलिस ने शुरुआती तौर पर आशंका जताई है कि इस हत्याकांड को कमलेश तिवारी के ही किसी परिचित ने अंजाम दिया है.

ये भी पढ़ें - 

बारिश में भीगते हुए रैली में बोले शरद पवार, इंद्रदेव ने दिया जीत का आशीर्वाद

गुंडागर्दी समाप्त करने को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप को वोट दें: उद्धव ठाकरे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 9:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...