होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Lucknow Alaya Apartment Tragedy: सपा नेता अब्बास हैदर की मां और पत्नी की मौत

Lucknow Alaya Apartment Tragedy: सपा नेता अब्बास हैदर की मां और पत्नी की मौत

Lucknow Building Collapse: हादसे में सपा नेता अब्बास हैदर की मां और पत्नी की मौत

Lucknow Building Collapse: हादसे में सपा नेता अब्बास हैदर की मां और पत्नी की मौत

Lucknow Apartment Collapse: राजधानी लखनऊ के हजरतगंज स्थित अलाया अपार्टमेंट हादसे में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अब्बास ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अलाया अपार्टमेंट हादसे में सपा नेता अब्बास हैदर की मां और पत्नी की मौत
करीब 15 घंटे के बाद दोनों महिलाओं को मलबे से निकाला गया था
सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान दोनों की मौत हुई

लखनऊ. राजधानी लखनऊ के हजरतगंज स्थित अलाया अपार्टमेंट हादसे में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अब्बास हैदर की मां बेगम हैदर और पत्नी उजमा हैदर की मौत हो गई. करीब 15 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद पहले 74 वर्षीय बेगम हैदर को निकाला गया. उसके बाद उजमा हैदर का रेस्क्यू हुआ. दोनों को सिविल हॉस्पिटल ले जाय गया जहां दोनों की मौत इलाज के दौरान हो गई. एक ही परिवार में दो मौतों से मातम का माहौल है.

बता दें कि मंगलवार शाम को जलाया अपार्टमेंट भरभराकर गिर गया था. इस हादसे में करीब 17 लोग मलबे में दब गए थे, जिनमें से 16 लोगों को अब तक बाहर निकाला जा चुका है, जिसमें से दो की मौत की पुष्टि हो चुकी है. 14 अन्य लोगों का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है, जबकि कुछ को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है. अभी भी मलबे में एक से दो लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है.

सीएम ने बनायी जांच कमेटी 
उधर हादसे का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन कर दिया है. कमेटी एक हफ्ते में अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेगी, जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. इस कमेटी में लखनऊ कमिश्नर जैकब रोशन, जॉइंट पुलिस कमिश्नर पीयूष मोर्डिया और चीफ इंजीनियर पीडब्लूडी को शामिल किया गया है. यह जांच कमेटी हादसे के लिए जिम्मेदार लोगों को चिन्हित कर एक हफ्ते में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी.

आपके शहर से (लखनऊ)

लखनऊ कमिश्नर ने दिए मुकदमा दर्ज करने के आदेश 
साथ ही लखनऊ कमिश्नर जैकब रोशन ने अपार्टमेंट के मालिक मोहम्मद तारिक, विधायक शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश और बिल्डर यजदान के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए हैं. साथ ही कहा है कि यजदान बिल्डर्स द्वारा लखनऊ में बनाए गए सभी भवनों की जांच की जाए. बता दें कि अभी तक जो बात निकलकर सामने आ रही है उसमें यह है कि अपार्टमेंट के निर्माण में मानकों को पूरा नहीं किया गया था. इतना ही नहीं सिर्फ दो मंजिल का नक्शा पास था और बिल्डर ने चार मंजिला इमारत खड़ी कर दी. इसके अलावा जिन पिलर्स पर बिल्डर ने इमारत खड़ी की थी वह भी कमजोर थी. महज 9 इंच और 14 इंच के पिलर पर चार मंजिला इमारत को खड़ाकर फ्लैट्स बेच दिए गए.

Tags: Lucknow news, UP latest news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें