अपना शहर चुनें

States

लखनऊ: जेल में बंद पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को KGMU भेजने का आदेश, जमानत की मांग

जेल में बंद पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को KGMU भेजने का आदेश (file photo)
जेल में बंद पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को KGMU भेजने का आदेश (file photo)

इससे पहले गायत्री प्रजापति (Gaytari Prajapati) की बेटी सुधा ने कहा, 'मेरे पिता निर्दोष हैं, उन्हें झूठे केस में फंसाया गया है. हमारे पास इसके सबूत भी हैं, लड़की ने खुद कहा है कि वह गायत्री प्रजापति को नहीं जानती और न ही उसने एफआईआर (Fir) लिखवाई है.'

  • Share this:
लखनऊ. हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने दुष्कर्म के मामले में जेल में बंद पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति (Gayatri Prasad Prajapati) को केजीएमयू (KGMU) भेजने के आदेश दिए हैं. इसके साथ ही उनकी बीमारी की जांच के लिए मेडिकल बोर्डों का गठन करने का भी निर्देश दिया गया है. गायत्री प्रजापति वर्तमान में लखनऊ जिला कारागार में निरुद्ध हैं. यह आदेश जस्टिस अनिल कुमार की पीठ ने गायत्री प्रजापति की ओर से दाखिल अल्प अवधि जमानत प्रार्थना पत्र पर दिया.

इलाज के लिए जमानत दिये जाने की मांग

याचिकाकर्ता की ओर से बीमारी के इलाज के लिए उसे अल्प अवधि जमानत दिये जाने की मांग की गई है. कहा गया है कि उसे यूरॉलजी सम्बंधी समस्या है, जिसका इलाज जेल अस्पताल में उपलब्ध नहीं है. लिहाजा. उन्हें इलाज के लिए अल्प अवधि जमानत पर रिहा किया जाए. प्रार्थना पत्र का अपर महाधिवक्ता वीके शाही ने विरोध किया.



कोर्ट ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद पुलिस अधिकारियों की देखरेख में गायत्री को केजीएमयू भेजने का आदेश दिया. साथ ही कोर्ट ने सरकार को यह अधिकार दिया है कि वह गायत्री के बीमारी की जांच सीएमओ लखनऊ द्वारा गठित मेडिकल बोर्ड से करवा सकती है. कोर्ट ने केजीएमयू के वीसी को भी मेडिकल बोर्ड का गठन कर के गायत्री की बीमारी की जांच के आदेश दिए हैं.
झूठे केस में फंसाया

इससे पहले गायत्री प्रजापति की बेटी सुधा ने कहा, 'मेरे पिता निर्दोष हैं, उन्हें झूठे केस में फंसाया गया है. हमारे पास इसके सबूत भी हैं. लड़की ने खुद कहा है कि वह गायत्री प्रजापति को नहीं जानती और न ही उसने एफआईआर लिखवाई है.' परिवार की मांग है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस मामले में हस्तक्षेप करें.

ये भी पढ़ें: Corona Virus: मस्कट से लखनऊ पहुंचा युवक पाया गया संदिग्ध, हॉस्पिटल में भर्ती

9 मार्च को है होलिका दहन, सूर्यास्त के बाद रात इतने बजे तक रहेगा शुभ मुहूर्त
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज