लाइव टीवी

अमृतसर ट्रेन हादसे में यूपी के 9 लोगों की मौत, 2 साल के आरुष ने खोए मां-बाप और भाई
Lucknow News in Hindi

Ajayendra Rajan | News18Hindi
Updated: October 21, 2018, 9:39 AM IST
अमृतसर ट्रेन हादसे में यूपी के 9 लोगों की मौत, 2 साल के आरुष ने खोए मां-बाप और भाई
मीना ही कर रहीं हैं देखभाल: मीना ने बताया कि हादसे के बाद उन्हें कुछ समझ नहीं आया था और वो उस बच्चे को अपने घर ले आई थीं. तब से ही वो उसकी पूरी देखभाल कर रही हैं. मीना के मुताबिक अगर बच्चे के पेरेंट्स नहीं मिलते हैं तो वह उस बच्चे को अपनाने के लिए तैयार हैं. हालांकि कथित तौर पर बच्चे के मां-बाप मिल गए हैं जो अस्पताल में भर्ती हैं. बच्चे का नाम विशाल बताया जा रहा है और उसकी मां राधिका इस दुर्घटना में बुरी तरह घायल हो गई हैं.

सुल्‍तानपुर के दिनेश अपनी पत्नी प्रीति और बेटे अभिषेक व आरुष के साथ अमृतसर में रहता था. हादसे के दिन दिनेश अपनी पत्नी और दोनों बेटों के साथ रेलवे लाइन पर खड़ा था. इस हादसे में उसका दो साल का बेटा आरुष ही बचा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2018, 9:39 AM IST
  • Share this:
अमृतसर हादसे ने उत्तर प्रदेश के कई परिवारों को मौत का दंश दे दिया है. प्रदेश के कई जिलों के लोग इस हादसे के शिकार हो गए. कहीं दो साल के बच्चे ने अपने मां-बाप और भाई को खो दिया तो कहीं पिता ने अपने दोनों बेटों की मौत देखी. कहीं चाचा अपने भतीजे को गोद में लिए काल के गाल में समा गया, तो वहीं भतीजी अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है. सभी पंजाब में बेहतर जीवनयापन के लिए काम करने गए थे.

जानकारी के अनुसार, अमृतसर हादसे में सुलतानपुर के दंपति और बेटे व अमेठी के एक युवक की जान चली गई है. यहां बल्दीराय के सोनबरसा गांव निवासी दो भाई 34 वर्षीय दिनेश कुमार और राकेश अमृतसर के जोड़ा में पाइप फि​टिंग का काम करते थे. दिनेश अपनी पत्नी प्रीति और बेटे अभिषेक व आरुष के साथ रहता था. हादसे के दिन दिनेश अपनी पत्नी और दोनों बेटों के साथ रेलवे लाइन पर खड़ा था, जब ट्रेन ने सभी कुचल दिया. हादसे में दो साल का आरुष ही बचा है.

ये भी पढ़ें: अमृतसर ट्रेन हादसा: आजमगढ़ के राममिलन की मौत से मचा कोहराम

वहीं अमेठी के शिवगढ़ के रहने वाले राम तीरथ कश्यप भी पंजाब में नौकरी करते हैं. उनका 18 साल का बेटे दीपक उस रात अपने दोस्तों के साथ रावण दहन देखने गया था. हादसे में उसकी भी मौत हो गई. इस हादसे में आजमगढ़ के कंधरापुर के सवरूपुर खुटौली गांव निवासी 20 वर्षीय बृजभान राम और तहबरपुर थाने के रैसिंग पुर गांव निवासी 24 वर्षीय राम मिलन निषाद की मौत हो गई. वह अमृतसर में रिश्तेदारों के यहां रहकर नौकरी करते थे.



गाजीपुर में करीमुद्दीनपुर थाना क्षेत्र के बगेन गांव निवासी 22 वर्षीय प्रदीप सिंह कुशवाहा और उनके भतीजे चार वर्षीय सार्थक की भी इस हादसे में मौत हो गई. हादसे में प्रदीप के साथ सात साल की काजल भी थी, जो गंभीर रूप से घायल है. उसका इलाज चल रहा है. प्रदीप सब्जी बेचता था.

ये भी पढ़ें: आरक्षित वर्ग जब कहेगा उसी दिन खत्म होगा आरक्षण: RSS

हरदोई भी अमृतसर हादसे का दर्द पसरा मिला. यहां दो सगे भाई 45 वर्षीय गिरींद्र और 40 वर्षीय पवन कुमार की मौत हो गई. बेहटागोकुल थाना क्षेत्र के सुरीजीपुर गांव निवासी आत्माराम अमृतसरकार की एक कपड़ा मिल में काम करते थे. उन्होंने अपने दोनों बेटों गिरींद्र और पवन को काम के लिए अमृतसर बुलाया था.

ये भी पढ़ें: 

रोक के बावजूद अयोध्या मार्च की तैयारी में प्रवीण तोगड़िया, सतर्क हुई सरकार

प्रतापगढ़ में गोलियों से छलनी कर किया गया रावण वध

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2018, 8:49 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर