लखनऊ: विमान से बाहर आते ही भावुक हो गया यात्री, धरती को पहले चुमा
Lucknow News in Hindi

लखनऊ: विमान से बाहर आते ही भावुक हो गया यात्री, धरती को पहले चुमा
एयर इंडिया के फ्लाइट से 182 लोग लखनऊ पहुंचे

लखनऊ पहुंचे एक यात्री ने अमौसी एयरपोर्ट पर उतरने के बाद धरती को चूम लिया. उसने कहा कि विदेश में फंसे होने का दर्द अपने देश वापस आने पर पता चलता है.

  • Share this:
लखनऊ. विदेशों में फंसे लोगों को उनकी वतन वापसी कराने के लिए केंद्र का सरकार का मिशन वंदे भारत (Vande Bharat Mission) शुरू हो चुका है. इस कड़ी में शारजाह (Sharjah) से एयर इंडिया (Air India) का एक विशेष विमान राजधानी लखनऊ (Lucknow) के चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर पहुंचा. जिसमें 182 यात्री शारजाह से लखनऊ पहुंचे. शारजाह से उड़ान भरने वाले इस विमान में यूएई के तमाम हिस्सों के लोग मौजूद थे. लखनऊ पहुंचे एक यात्री ने अमौसी एयरपोर्ट पर उतरने के बाद धरती को चूम लिया. उसने कहा कि विदेश में फंसे होने का दर्द अपने देश वापस आने पर पता चलता है. यात्रियों ने अपनी पीड़ा को भी बताया कि किस तरह लॉकडाउन के इन दिनों में उनके पास खाने का भी पैसा नहीं बचा था. विदेशों में किसी तरह की कोई मदद मिल पाना भी संभव नहीं था और ऐसे में मोदी सरकार की भारत वापसी की कोशिश किसी फरिश्ते की तरह थी. जिससे हमारी वतन वापसी हो सकी. बहुत मुश्किलों के बाद हम लोग हिंदुस्तान वापस लौट पाए.

लखनऊ हवाई अड्डे के आगमन लाउंज से शनिवार को बाहर आते वक्त हाजी मोहम्मद साजिद काफी भावुक हो उठे. वह शारजाह से एयर इंडिया के विशेष विमान से यहां पहुंचे थे. रात में लगभग 10:30 बजे यात्रियों ने हवाई अड्डे से बाहर निकलना शुरू किया . हाजी मोहम्मद साजिद ने हवाई अड्डे की जमीन को चूमा . उस समय वहां पुलिस प्रशासन के अधिकारी और मीडिया कर्मी मौजूद थे. अयोध्या के रहने वाले हाजी मोहम्मद ने बताया कि वह पिछले दो महीने से विदेश में फंसे हुए थे . उन्हें अपने माता-पिता और देश की बहुत याद आ रही थी . उन्होंने परिवार से दोबारा मिलाने के लिए केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा किया. साजिद विदेश में बतौर डिजाइनर काम कर रहे थे .

अन्य राज्यों से भी आ रहे श्रमिक



यात्रियों ने बताया एंबेसी में संपर्क करने के बाद हम लोगों को हिंदुस्तान आने का रास्ता साफ हो सका. बता दें कि दूसरे प्रदेशों में फंसे लोगों को उनके घर वापसी के लिए पहले ही राज्य सरकार श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन चलवा रही हैं जिससे दूसरे राज्यों में फंसे मजदूर और श्रमिक लगातार बड़ी तादाद में अपने अपने गंतव्य तक पहुंच रहे हैं. चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर पहुंची फ्लाइट को रिसीव करने खुद लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश मौजूद थे. अभिषेक प्रकाश ने बताया इन सभी यात्रियों को उतरने के बाद पूरी तरह चेकअप कराया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सभी यात्रियों का कोरोनावायरस का टेस्ट कराया जा रहा है और फिर इन सभी को 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा.
पेड क्वारंटाइन की भी व्यवस्था

अभिषेक प्रकाश ने बताया कि इस बार पेड क्वारंटाइन की भी व्यवस्था की गई है, यानी जो लोग क्वारंटाइन व्यवस्था के लिए पैसा पे करने में सक्षम होंगे उन लोगों को राजधानी लखनऊ के अलग-अलग हिस्सों के होटलों में रखा जाएगा और जो भी लोग पैसा वहन करने में सक्षम नहीं होंगे उन सबको सरकार की तरफ से बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में रखा जाएगा. राजधानी लखनऊ के दो दर्जन से ज्यादा होटलों को पेड क्वारंटाइन के लिए चिन्हित किया गया है. जबकि सरकारी व्यवस्था वाले क्वारंटाइन सेंटर हज हाउस और एमिटी कॉलेज में बनाए गए हैं. शारजाह से उड़ान भरकर यह विमान शुक्रवार की रात 9 बजे लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचा था.

ये भी पढ़ें:

योगी सरकार ने श्रम अधिनियमों में किया बदलाव, अखिलेश यादव ने मांगा इस्तीफा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज