ANALYSIS: पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गाय और गन्ना बिगाड़ेंगे बीजेपी का खेल?

पश्चिमी यूपी में लोकसभा की चालीस सीटें हैं. इनमें से 8 सीटों पर पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान होने जा रहा है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 10, 2019, 6:29 PM IST
ANALYSIS: पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गाय और गन्ना बिगाड़ेंगे बीजेपी का खेल?
file photo
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 10, 2019, 6:29 PM IST
पश्चिमी यूपी में लोकसभा की चालीस सीटें हैं. इनमें से 8 सीटों पर पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान होने जा रहा है. ये सीटें हैं-सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर. ये आठों सीटें पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने हासिल की थीं. अब सत्ताधारी दल ने इन सीटों को बचाए रखने के लिए पूरी ताकत लगा दी है.

सांप्रदायिक तौर पर संवेदनशील मुजफ्फरनगर सीट पर दो दिग्गजों के बीच मुकाबला है. एक तरफ राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के बेटे अजित सिंह और दूसरी तरफ बीजेपी के संजीव बालियान. इसके अलावा गाजियाबाद ( वीके सिंह ) , बागपत ( सत्यपाल सिंह) और गौतमबुद्धनगर ( महेश शर्मा ) में भी तीन मंत्रियों की किस्मत पहले चरण में दांव पर है. विपक्षी उम्मीदवारों में बागपत से अजित सिंह के बेटे जयंत चौधरी के अलावा सहारनपुर में कांग्रेसी उम्मीदवार इमरान मसूद और कैराना से सांसद तबस्सुम बेगम पर भी निगाहें रहेंगी.

किन मुद्दों पर होगी वोटिंग?

file photo


पश्चिमी यूपी में सुगर बेल्ट होने की वजह से गन्ना कीमतें हमेशा से यहां चुनावी मुद्दा रही हैं. हालांकि गन्ना किसानों के बकाए दस हजार करोड़ को बीजेपी 5000 करोड़ पर लेकर आई है जिसकी वजह से किसानों में फसल की कीमतों को लेकर गुस्सा एकदम भड़का हुआ नहीं दिख रहा है. पश्चिमी यूपी जाटों के प्रभाव वाला इलाका है और 2013 में मुजफ्फरनगर में हुए दंगों के बाद से आम तौर पर यह समुदाय बीजेपी वो वोट करता आ रहा है. जाट वोटर अपनी राजनीतिक पसंद को लेकर मुखर है और यह झुकाव बीजेपी की तरफ दिखाई देता है.

हां, आवारा पशुओं का आतंक जरूर यहां पर किसानों में गुस्से का विषय है और ऐसा सिर्फ पश्चिम यूपी में ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश में है. आवारा पशुओं द्वारा गन्ने की खेती नष्ट किए जाने के कारण किसानों को खेतों का घेराव कराना पड़ रहा है. जो काफी खर्चीला है. ऐसे में यह एक मुद्दा है जिसे लेकर किसानों का गुस्सा केंद्र और राज्य में सत्तारूढ़ बीजेपी को उठाना पड़ सकता है.

यह भी पढ़ें: UP: पहले चरण में 1.52 करोड़ मतदाता 96 प्रत्याशियों की किस्मत का करेंगे फैसला
Loading...

यह भी पढ़ें: जमात ए इस्लामी की अपील, BJP को हराना है तो गठबंधन के उम्मीदवारों को दें वोट

यह भी पढ़ें: UP-बिहार समेत देश के 20 राज्यों में 3 दिन तक बंद रहेंगे बैंक, जानिए क्या है वजह
First published: April 10, 2019, 5:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...