Home /News /uttar-pradesh /

बीजेपी के घोषणापत्र से अटल गायब, मोदी-शाह को मिली जगह

बीजेपी के घोषणापत्र से अटल गायब, मोदी-शाह को मिली जगह

भारतीय जनता पार्टी में अटल युग का समापन हो चुका है. 2012 में बीजेपी के घोषणापत्र पर जहां अटल बिहार वाजपेयी को ही जगह मिली थी, वहीं 2017 विधानसभा चुनावों के लिए घोषणापत्र के कवर पेज पर नरेंद्र मोदी और अमित शाह को जगह मिली है.

भारतीय जनता पार्टी में अटल युग का समापन हो चुका है. 2012 में बीजेपी के घोषणापत्र पर जहां अटल बिहार वाजपेयी को ही जगह मिली थी, वहीं 2017 विधानसभा चुनावों के लिए घोषणापत्र के कवर पेज पर नरेंद्र मोदी और अमित शाह को जगह मिली है.

भारतीय जनता पार्टी में अटल युग का समापन हो चुका है. 2012 में बीजेपी के घोषणापत्र पर जहां अटल बिहार वाजपेयी को ही जगह मिली थी, वहीं 2017 विधानसभा चुनावों के लिए घोषणापत्र के कवर पेज पर नरेंद्र मोदी और अमित शाह को जगह मिली है.

भारतीय जनता पार्टी में अटल युग का समापन हो चुका है. 2012 में बीजेपी के घोषणापत्र पर जहां अटल बिहार वाजपेयी को ही जगह मिली थी, वहीं 2017 विधानसभा चुनावों के लिए शनिवार को जारी किए गए घोषणापत्र के कवर पेज पर नरेंद्र मोदी और अमित शाह को जगह मिली है.

यह भी पढ़ें: भाजपा का घोषणापत्र जारी, अमित शाह बोले- एक साल तक लैपटॉप के साथ 1 जीबी डाटा मुफ्त

लोक कल्याण संकल्प पत्र 2017 के नाम से जारी बीजेपी के घोषणापत्र में मोदी और शाह के अलावा राजनाथ सिंह, कलराज मिश्रा, उमा भारती और केशव प्रसाद मौर्य को भी जगह मिली है.

दरअसल मोदी और शाह के अलावा जिन नेताओं को जगह मिली है उसके पीछे बीजेपी की जातिगत समीकरणों को साधने की भी कोशिश है. इसमें राजनाथ सिंह ठाकुर समुदाय का नेतृत्व कर रहे हैं वहीं कलराज मिश्रा ब्राह्मण चेहरा हैं. उमा भारती लोध समाज से हैं लिहाजा उन्हें भी जगह मिली है. केशव प्रसाद मौर्या भी पिछड़े वर्ग का ही नेतृत्व करते हैं.

अगर 2012 के घोषणापत्र को देखें तो उसमें सिर्फ अटल बिहारी वाजपेयी की ही तस्वीर थी. लेकिन पांच साल बाद अब बीजेपी में सब कुछ बदल गया है. या ये कहा जाए कि अब अटल-अडवाणी युग का पूरी तरह समापन हो चुका है.

Tags: Amit shah, BJP, Narendra modi, लखनऊ

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर