लाइव टीवी

अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद: पीस पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की क्यूरेटिव पिटीशन

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 21, 2020, 12:29 PM IST
अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद: पीस पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की क्यूरेटिव पिटीशन
सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई क्यूरेटिव पिटीशन. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court ) ने इस मामले में दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं को पहले ही ख़ारिज कर दिया था. अब क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल की गई है.

  • Share this:
लखनऊ. अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद (Ram Janambhoomi Dispute) मामले में पीस पार्टी (Peace Party) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में क्यूरेटिव याचिका दाख़िल की है. इस याचिका में कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आस्था के आधार पर था न कि मैरिट के आधार पर. हालांकि, इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं को ख़ारिज कर दिया था. पुनर्विचार याचिकाओं के खारिज होने के बाद ये पहली क्यूरेटिव पिटीशन सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हुई है.

इससे पहले 12 दिसंबर 2019 को अयोध्या विवाद पर आए फैसले के खिलाफ दाखिल 18 पुनर्विचार याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने इन चैम्बर (बंद दरवाजे में) सुनवाई के दौरान ही खारिज कर दी थी. बता दें कि पांच जजों की संविधान पीठ ने करीब 50 मिनट तक सुनवाई की. इसके बाद सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया गया. याचिकाएं खारिज होने के साथ ही अब अयोध्या मामला कोर्ट में दुबारा नहीं लाया जाएगा. हालांकि, क्यूरेटिव पिटीशन का ऑप्शन अभी बचा हुआ है.

9 नवंबर को सुनाया गया था फैसला
बता दें पिछले साल 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने दशकों पुराने इस विवाद पर फैसला सुनाया था. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में अयोध्या की विवादित जमीन को रामलला को देने का आदेश दिया है. साथ ही तीन महीने के अंदर राम मंदिर निर्माण के लिए एक ट्रस्ट के गठन का भी निर्देश दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन के बदले मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन देने का फैसला सुनाया था. इस फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड व अन्य मुस्लिम पक्षकारों, जिनमे जमीयत उलेमा-ए-हिन्द भी शामिल था, उसने पुनर्विचार याचिका दाखिल की थी. हालांकि मामले में सबसे बड़े पक्षकार सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड और एक अन्य पक्षकार इकबाल अंसारी ने फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल करने से इनकार कर दिया था.

(इनपुट: सुशील पांडे)

ये भी पढ़ें:CAA के समर्थन में गृहमंत्री अमित शाह आज लखनऊ में करेंगे विशाल रैली

फतेहपुर में रिश्ते के चाचा ने किया 6 साल की बच्ची से रेप, आरोपी गिरफ्तार

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 12:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर