Home /News /uttar-pradesh /

ayodhya ram temple trust president mahant nritya gopal das discharged from medanta hospital lucknow upns

महंत नृत्य गोपाल दास की हालत में सुधार, लखनऊ मेदांता से ड‍िस्‍चार्ज होकर पहुंचे अयोध्या

84 वर्षीय महंत नृत्य गोपाल दास के गुर्दे और पेशाब संक्रमण निकला था. (File pic)

84 वर्षीय महंत नृत्य गोपाल दास के गुर्दे और पेशाब संक्रमण निकला था. (File pic)

नृत्य गोपाल दास का जन्म बरसाना मथुरा के कहोला गांव में 1938 में हुआ है. महज 12 वर्ष की उम्र में ही उन्होंने संन्यास ले लिया था और मथुरा से अयोध्या आ गए थे. अयोध्या आने के बाद वो काशी चले गए. काशी जाने का मकसद संस्कृत की पढ़ाई करना था. 1953 में वह अयोध्या लौटे और मणिराम दास छावनी में रुके. उन्होंने राम मनोहर दास से दीक्षा ली थी. नृत्यगोपाल दास पर बाबरी विध्वंस में शामिल रहने का आरोप था. हालांकि सीबीआई कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया है.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. अयोध्या आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास (mahant nritya gopal das) की तबीयत में सुधार के बाद शुक्रवार शाम डिस्चार्ज कर दिया गया है. लखनऊ मेदांता के निदेशक डॉ. राकेश कपूर ने बताया कि उनको एम्बुलेंस से अयोध्या ले जाया गया है. अस्पताल की क्रिटिकल केयर टीम उनके अच्छे स्वास्थ्य और दीर्घ आयु की प्रार्थना करती है. महंत खुद को बेहतर महसूस कर रहे थे. वह लोगों से बातचीत भी कर रहे थे. गुरुवार को ही उनकी तबीयत में काफी सुधार देखा गया था. इससे पहले रविवार को अचानक तबीयत खराब होने पर महंत को भर्ती कराया गया था. 84 वर्षीय महंत नृत्य गोपाल दास के गुर्दे और पेशाब संक्रमण निकला था.

रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं शीर्ष पीठ मणिरामदास जी की छावनी के महंत नृत्यगोपालदास शुक्रवार को सायं अस्पताल से स्वस्थ हो वापस अपने आश्रम पहुंचे. गत रविवार को उन्हें नियमित जांच के सिलसिले में लखनऊ के मेदांता अस्पताल ले जाया गया था. उनके स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर अस्पताल प्रशासन ने पांच दिनों तक भर्ती रखा. हालांकि अयोध्या पहुंचने पर महंत नृत्यगोपालदास स्वस्थ नजर आए.

कौन हैं महंत नृत्य गोपाल दास
छोटी छावनी के हैं महंत नृत्यगोपाल दास. उनके शिष्य देश और दुनिया में फैले हुए हैं. वो सिर्फ राम जन्म भूमि न्यास के ही अध्यक्ष नहीं, बल्कि कृष्ण जन्म भूमि न्यास के भी अध्यक्ष हैं. इसी नाते वो मथुरा में कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर वहां शिरकत करते रहे हैं. नृत्य गोपाल दास का जन्म बरसाना मथुरा के कहोला गांव में 1938 में हुआ है. महज 12 वर्ष की उम्र में ही उन्होंने संन्यास ले लिया था और मथुरा से अयोध्या आ गए थे. अयोध्या आने के बाद वो काशी चले गए. काशी जाने का मकसद संस्कृत की पढ़ाई करना था. 1953 में वह अयोध्या लौटे और मणिराम दास छावनी में रुके.

Tags: Ayodhya Ram Temple, CM Yogi, Lucknow news, Medanta Hospital, Ram Mandir Trust, UP news, Yogi government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर