अयोध्या मामला: आडवानी, जोशी, कल्याण सिंह समेत 5 आरोपियों के बयान दर्ज कराने को लेकर तारीख तय
Lucknow News in Hindi

अयोध्या मामला: आडवानी, जोशी, कल्याण सिंह समेत 5 आरोपियों के बयान दर्ज कराने को लेकर तारीख तय
सीबीआई कोर्ट (CBI Court) ने बयान दर्ज कराने (Statement Record) के लिए एनआईसी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था करने का आदेश दिया है. आरोपियों के घर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था की जाएगी.

सीबीआई कोर्ट (CBI Court) ने बयान दर्ज कराने (Statement Record) के लिए एनआईसी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था करने का आदेश दिया है. आरोपियों के घर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था की जाएगी.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Locknow) से बड़ी खबर सामने आई है. अयोध्या स्थित ढांचा ध्वंस मामले (Ayodhya Structure Demolition Case) में 30 जून को लालकृष्ण आडवाणी (Lalkrishna Advani), 1 जुलाई को मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi), 2 जुलाई को कल्याण सिंह (Kalyan Singh) एवं 23 जून को महंत नृत्य गोपाल दास के बयान दर्ज होंगे. पांच अन्य आरोपियों के बयान भी वीडियो कांफ्रेंसिंग से दर्ज किये जाएंगे. कोर्ट ने एनआईसी को आरोपियों के पते समेत लिस्ट दी. सभी के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये ही बयान दर्ज होंगे.

आरोपियों के घर में होगी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था
सीबीआई कोर्ट ने इसके लिए एनआईसी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था करने का आदेश दिया है. आरोपियों के घर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था की जाएगी. अबतक इस मामले में 32 में से 13 आरोपियों के बयान दर्ज हो चुके हैं. बाकी के आरोपियों की सीआरपीसी की धारा 313 के तहत बयान दर्ज होंगे. 31 अगस्त तक इस मामले में ट्रायल पूरा किया जाना है. सीबीआई की विशेष कोर्ट में अयोध्या प्रकरण पर सुनवाई चल रही है.

इससे पहले इसी मामले में शुक्रवार को सीबीआई की विशेष अदालत में अभियुक्त नवीन शुक्ला का सीआरपीसी की धारा 313 के तहत बयान दर्ज हुआ. विशेष जज सुरेंद्र कुमार यादव ने अन्य अभियुक्तों के बयान के लिए 20 जून की तारीख तय की है. इस मामले में अब 21 अन्य अभियुक्तों का बयान दर्ज होना बाकी है. मामले की सुनवाई दिन-प्रतिदिन हो रही है. अन्य अभियुक्तों की भांति शुक्ला ने भी गलत फंसाने की बात कही. उन्होंने कहा कि राजनीतिक कारणों से उन्हें इस केस में अभियुक्त बनाया गया है.
विवादित ढांचा ढहाने के मामले में 49 एफआईआर दर्ज


बता दें कि 6 दिसंबर 1992 को विवादित ढांचा ढहाने के मामले में कुल 49 एफआईआर दर्ज हुए थे. एक एफआईआर फैजाबाद के थाने रामजन्म भूमि में एसओ प्रियवंदा नाथ शुक्ला, जबकि दूसरी एसआई गंगा प्रसाद तिवारी ने दर्ज कराई थी. शेष 47 एफआईआर अलग-अलग तारीखों पर अलग-अलग पत्रकारों व फोटोग्राफरों ने भी दर्ज कराए थे.

5 अक्टूबर 1993 को सीबीआई ने जांच के बाद इस मामले में कुल 49 अभियुक्तों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था. इनमें 17 की मौत हो चुकी है. लिहाजा अब लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती व कल्याण सिंह समेत कुल 32 अभिुयक्तों के मामले की सुनवाई हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading