लाइव टीवी

Ayodhya Verdict: मायावती ने कहा- आम सहमति से दिए गए ऐतिहासिक फैसले का हो सम्मान

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 9, 2019, 3:23 PM IST
Ayodhya Verdict: मायावती ने कहा- आम सहमति से दिए गए ऐतिहासिक फैसले का हो सम्मान
सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट किया है.

बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने ट्वीट किया है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद के सम्बंध में आज आम सहमति से दिए गए ऐतिहासिक फैसले का सभी को सम्मान करते हुए अब इस पर सौहार्दपूर्ण वातावरण में ही आगे का काम होना चाहिए. ऐसी अपील व सलाह है.

  • Share this:
लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी (BSP) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court Of India) के अयोध्या फैसले (Ayodhya Verdict) पर ट्वीट (Tweet) कर जनता से अपील की है कि इस ऐतिहासिक फैसले का सम्मान होना चाहिए. बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट किया है, "परमपूज्य बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर के धर्मनिरपेक्ष संविधान के तहत सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद के सम्बंध में आज आम सहमति से दिए गए ऐतिहासिक फैसले का सभी को सम्मान करते हुए अब इस पर सौहार्दपूर्ण वातावरण में ही आगे का काम होना चाहिए ऐसी अपील व सलाह."

बता दें आज सुबह अयोध्या जमीन विवाद (Ayodhya Land Dispute) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला आने से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर कहा, ''अयोध्या प्रकरण अर्थात रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मालिकाना हक विवाद के सम्बंध में फैसले पर इंतजार की घड़ी समाप्त हुई जिस पर आज मानीनय सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्णय सुनाया जाने वाला है. सभी लोगों से पुनः अपील है कि वे कोर्ट का फैसला स्वीकार करें व इसका सम्मान करें तथा शान्ति बनाए रखें.''

mayawati sc verdict
बसपा सुप्रीमो मायावती का ट्वीट.


सीएम योगी ने किया फैसले का स्वागत

उधर फैसले के बाद मुख्यमंत्री आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने ट्वीट कर के बधाई दी. इस ऐतिहासिक फैसले पर सीएम योगी ने माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि देश की एकता और सद्भाव बनाए रखने में सभी सहयोग करें. उत्तर प्रदेश में शांति, सुरक्षा और सद्भाव का वातावरण बनाए रखने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है.

सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये फैसला
शनिवार को दिए अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में विवादित जमीन रामलला विराजमान को देने की बात कही. वहीं सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन अयोध्या में कहीं भी देने को कहा. चीफ जस्टिस (सीजेआई) रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) ने शनिवार सुबह साढ़े दस बजे से इस पर अपना फैसला पढ़ना शुरू किया. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में विवादित जमीन रामलला (Ramlala) विराजमान को देने की बात कही. साथ ही सुन्नी वक्फ बोर्ड (Sunni Waqf Board) को अयोध्या (Ayodhya) में ही कहीं पांच एकड़ जमीन देने को कहा.
Loading...

ये भी पढ़ें:

Ayodhya Verdict: 1990 से जो तराशता रहा राम मंदिर के पत्थर, सुन न सका फैसला

अयोध्या फैसले से कोई हारा नहीं, जीता है हिंदुस्तान: केशव प्रसाद मौर्य

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 3:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...