Home /News /uttar-pradesh /

azam khan released from jail aal eyes on what will be next political move of azam khan upat

अखिलेश के साथ रहेंगे या चुनेंगे नई राह! आजम खान की जेल से रिहाई के बाद क्या होगी अगली सियासी चाल?

Azam Khan Released From Jail: समाजवादी पार्टी की तरफ से किसी बड़े चेहरे की मौजूदगी सीतापुर जेल के बाहर न होने पर भी अटकलों का बाजार गर्म है. हालांकि अखिलेश यादव ने ट्वीट कर आजम खान के बाहर आने का स्वागत किया और कहा कि जल्द ही वे कोर्ट से बाइज्जत बरी होंगे. जानकारी यह भी मिल रही है कि अखिलेश यादव शनिवार को आजम खान से मुलाक़ात करने जा सकते हैं. दरअसल, आज़म खान के समर्थकों ने अखिलेश यादव पर आरोप लगाया था कि उन्होंने आजम का साथ नहीं दिया. जेल में रहने के दौरान वह एक बार भी उनसे मिलने नहीं गए.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता और 9वीं बार विधायक बने आजम खान 814 दिन बाद सीतापुर जेल से अंतरिम जमानत पर बाहर आ गए हैं. आजम खान को जेल के बाहर रिसीव करने के लिए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के अध्यक्ष शिवपाल यादव समेत उनके सैकड़ों समर्थक पहुंचे, लेकिन समाजवादी पार्टी का कोई दिग्गज नेता सीतापुर जेल नहीं पहुंचा. इसके बाद आजम खान की अगली सियासी चाल को लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया है. जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में यूपी की सियासत में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है.

समाजवादी पार्टी की तरफ से किसी बड़े चेहरे की मौजूदगी सीतापुर जेल के बाहर न होने पर भी अटकलों का बाजार गर्म है. हालांकि अखिलेश यादव ने ट्वीट कर आजम खान के बाहर आने का स्वागत किया और कहा कि जल्द ही वे कोर्ट से बाइज्जत बरी होंगे. जानकारी यह  भी मिल रही है कि अखिलेश यादव शनिवार को आजम खान से मुलाक़ात करने जा सकते हैं. दरअसल, आज़म खान के समर्थकों ने अखिलेश यादव पर आरोप लगाया था कि उन्होंने आजम का साथ नहीं दिया. जेल में रहने के दौरान वह एक बार भी उनसे मिलने नहीं गए.

अखिलेश को करेंगे मजबूत या बनाएंगे अलग राह
जिस तरह से आजम के करीबियों ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के खिलाफ मोर्चा खोला है, उससे उनकी रिहाई के बाद यूपी की सियासी पिच पर नया हंगामा होने के आसार बनने लगे हैं. आजम खान के बाहर निकलने के साथ ही प्रदेश में नए मोर्चे की सुगबुगाहट भी तेज हो गई है. अब सबकी निगाहें इस बात पर टिकी हैं कि क्या वह शिवपाल यादव के साथ मिलकर नया मोर्चा बनाएंगे, या फिर अखिलेश यादव के साथ रहकर उन्हें मजबूत करेंगे.

नए मोर्चे की सुगबुगाहट तेज
दरअसल, नए मोर्चे की अटकलें इसलिए भी तेज हैं, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलते ही शिवपाल यादव ने ट्वीट कर ख़ुशी का इजहार किया. इतना ही नहीं शुक्रवार सुबह रिहाई के वक्त भी शिवपाल मौजूद रहे. शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि आज़म खान पुराने साथी रहे हैं. सुख-दुख में साथ रहना चाहिए. आज न्याय मिला है. इससे पहले गुरुवार को  न्यूज18 से बातचीत में शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मैं दिल्ली में शादी में आया था, मगर आजम साहब की रिहाई से मन खुश है और अब मैं सीधे सीतापुर जेल उनसे मिलने जा रहा हूं. किसी नए राजनीतिक समीकरण की बात पर उन्होंने कहा कि राजनीति संभावनाओं का खेल है. मुस्लिम भाइयों की आवाज उठाने के लिए कोई पार्टी में आगे नहीं आ रहा है, लोकतंत्र में सबको अपनी बात कहने का हक है. आजम खान साहब एक बार बाहर आ जाएं फिर हम लोग मिलकर रणनीति तय करेंगे कि आगे क्या करना है.

Tags: Akhilesh yadav, Azam Khan, Shivpal Yadav

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर