लाइव टीवी

यूपी विधानसभा से आजम खान के बेटे अब्दुल्ला की सदस्यता हुई रद्द, अधिसूचना जारी
Rampur News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 27, 2020, 11:00 PM IST
यूपी विधानसभा से आजम खान के बेटे अब्दुल्ला की सदस्यता हुई रद्द, अधिसूचना जारी
यूपी विधानसभा में अब्दुल्ला आजम की सदस्यता रद्द हो गई है.

विधानसभा से जारी अधिसूचना के अनुसार इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने 16 दिसंबर 2019 को आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान के निर्वाचन को रद्द कर दिया था. लिहाजा यूपी विधानसभा से भी उनकी सदस्यता 16 दिसंबर से ही रद्द मानी जाएगी.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा (UP Assembly) से सपा सांसद आजम खान (Azam Khan) के बेटे मोहम्मद अब्दुल्ला आजम खान (Mohd Abdulllah Azam Khan) की सदस्य रद्द हो गई है. इस संबंध में अधिसूचना जारी हो गई है. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 16 दिसंबर 2019 को आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान के निर्वाचन को रद्द कर दिया था. लिहाजा यूपी विधानसभा से भी उनकी सदस्यता 16 दिसंबर से ही रद्द मानी जाएगी.

प्रमुख सचिव प्रदीप कुमार दुबे ने जारी अधिसूचना में कहा है कि चूंकि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 16 दिसंबर 2019 को पारित निर्णय द्वारा मोहम्मद अब्दुल्ला आजम खान, सदस्य विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र स्वार, रामपुर का निर्वाचन शून्य करार देते हुए निर्वाचन को रद्द घोषित किया है. और हाईकोर्ट के इस निर्णय के विषय में किसी स्थगनादेश की सूचना प्राप्त नहीं हुई है. लिहाजा 16 दिसंबर 2019 से ही अब्दुल्ला आजम की सदस्यता रद्द मानी जाएगी. इसी तारीख से उनका स्थान विधानसभा में रिक्त हो गया है.

ये है पूरा मामला
साल 2017 में बहुजन समाज पार्टी (BSP) के नेता नवाब काजिम अली ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. याचिका में बताया गया कि विधानसभा चुनाव दौरान अब्दुल्ला आजम ने हलफनामे में अपनी उम्र की गलत जानकारी दी थी. नवाब काजिम अली ने चुनाव अर्जी में अब्दुल्ला को चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य बताते हुए उनका निर्वाचन रद्द किए जाने और रामपुर की स्वार विधानसभा सीट से नए सिरे से चुनाव कराए जाने की मांग की थी.



पहले ही चुनाव में दर्ज की थी बड़ी जीत
काजिम अली ने अपनी याचिका में आरोप लगाया था कि वर्ष 2017 में चुनाव के वक्त आजम खान के बेटे न्यूनतम निर्धारित उम्र 25 वर्ष के नहीं थे. चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने फर्जी कागजात दाखिल किए थे और झूठा हलफनामा दाखिल किया था. बसपा नेता की ओर से अब्दुल्ला आजम की 10वीं कक्षा की मार्कशीट के साथ कई अहम दस्तावेजों में दर्ज जन्मतिथि को आधार बनाया गया था. अब्दुल्ला आजम सपा सांसद आजम खान के छोटे बेटे हैं. वर्ष 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अब्दुल्ला आजम ने पहली बार चुनाव लड़ा था और रामपुर की स्वार विधानसभा सीट से भारी मतों से जीत दर्ज की थी.

इनपुट: अजीत सिंह

ये भी पढ़ें:

आजम खान और उनके परिवार के सीतापुर जेल ट्रांसफर पर रामपुर जेल अधीक्षक तलब

भ्रष्टाचार पर वार: सीएम योगी का 5 पीसीएस अफसरों को निलंबित करने का फरमान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रामपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 27, 2020, 8:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर