आजमगढ़: बीजेपी जिलाध्यक्ष के बेटों द्वारा मजदूरों की पिटाई पर सपा बोली- दबाव में दर्ज हुई FIR
Azamgarh News in Hindi

आजमगढ़: बीजेपी जिलाध्यक्ष के बेटों द्वारा मजदूरों की पिटाई पर सपा बोली- दबाव में दर्ज हुई FIR
समाजवादी पार्टी (फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर घटना को दुखद बताते हुए कहा है कि मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई दबाव में गई है. समाजवादी पार्टी ने इस मामले में न्याय की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 14, 2020, 12:04 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के आजमगढ़ (Azamgarh) जिले के लालगंज तहसील के उबारपुर गांव में बीजेपी (BJP) जिलाध्यक्ष ऋषिकांत राय के बेटों और भतीजों द्वारा मनरेगा मजदूरों की पिटाई मामले में सियासत शुरू हो गई है. समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर घटना को दुखद बताते हुए कहा है कि मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई दबाव में  गई है. समाजवादी पार्टी ने इस मामले में न्याय की मांग की है.

समाजवादी पार्टी के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा गया कि , "आजमगढ़ के उबारपुर गांव में दलित मजदूरों की बीजेपी जिलाध्यक्ष के पुत्रों द्वारा पिटाई दुखद! सत्ता के नशे में मदमस्त बीजेपी नेता और उनके परिजन निरंतर ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. ग्रामीणों के हंगामे के बाद दबाव में दर्ज हुई FIR पर हाथ पर हाथ धरे ना बैठा रहे प्रशासन. हो न्याय.

 





क्या है पूरा मामला?

बता दें कि गंभीरपुर थाना क्षेत्र के ग्राम उबारपुर में मनरेगा मजदूरों की पिटाई का मामला सामने आया था. बताया जा रहा है कि मनरेगा मजदूर काम कर रहे थे, इसी दौरान बीजेपी के जिलाध्यक्ष के बेटों और भतीजों की मजदूरों से कहासुनी हो गई. जिसके बाद जिलाध्यक्ष के बेटों और भतीजों ने मजदूरों को मारना-पीटना शुरू कर दिया. जिससे आक्रोशित ग्रामीणों ने नेशनल हाइवे जाम कर कार्रवाई की मांग करने लगे. घंटों बाद कार्रवाई के आश्वासन पर जाम हटा. पुलिस ने बीजेपी जिलाध्यक्ष के दोनों बेटों सत्यम, शिवम समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज लिया है.

दरअसल, उबारपुर गांव में मनरेगा मजदूर नहर की सफाई कर रहे थे. आरोप है कि लालगंज बीजेपी जिलाध्यक्ष के बेटों और भतीजों ने मनरेगा मजदूरों की पिटाई की. पिटाई से दो मजदूर पप्पू उर्फ वेद प्रकाश (35) पुत्र गुनई राम, रवि (24) पुत्र रामदेव घायल हो गए. घायल मजदूरों का आरोप है कि आरोपितों ने उन्हें ट्यूबवेल पर ले जाकर पीटा और जातिसूचक शब्दों के साथ गाली गलौज किया. ग्रामीणों ने आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर गोसाईं बाजार में चक्का जाम कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading