बाबरी विध्वंस केस: CBI स्पेशल कोर्ट में आरोपियों की गवाही शुरू, विनय कटियार, राम विलास वेदांती सहित 6 आरोपी हुए पेश
Ayodhya News in Hindi

बाबरी विध्वंस केस: CBI स्पेशल कोर्ट में आरोपियों की गवाही शुरू, विनय कटियार, राम विलास वेदांती सहित 6 आरोपी हुए पेश
राज्य सरकार 15 जून से 10वीं के बोर्ड एग्जाम कराना चाह रही थी.

बाबरी विध्वंस केस (Babri Demolition Case) में गुरुवार को मामले में 32 आरोपियों में से 6 आरोपी अपना बयान दर्ज कराने पहुंचे. इनमें विनय कटियार, डॉ रामविलास वेदांती, पवन पांडेय, गजानंद दास गांधी, संतोष दुबे और विजय बहादुर सिंह पहुंचे. जानकारी के अनुसार इनमें से केवल एक विजय बहादुर सिंह का बयान दर्ज किया गया.

  • Share this:
लखनऊ. अयोध्या (Ayodhya) के बाबरी विध्वंस केस (Babri Demolition Case) में गुरुवार से आरोपियों के बयान दर्ज होने शुरू हो गए. सीबीआई की विशेष कोर्ट (CBI Special Court) में अयोध्या प्रकरण को लेकर आरोपियों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं. गुरुवार को मामले में 32 आरोपियों में से 6 आरोपी अपना बयान दर्ज कराने पहुंचे. इनमें विनय कटियार (Vinay Katiyar), डॉ रामविलास वेदांती, पवन पांडेय, गजानंद दास गांधी, संतोष दुबे और विजय बहादुर सिंह पहुंचे. जानकारी के अनुसार इनमें से केवल एक विजय बहादुर सिंह का बयान दर्ज किया गया.

5 जून को होना होगा पेश

सीबीआई विशेष जज एसके यादव ने शेष अभियुक्तों के बयान के लिए शुक्रवार (5 June) की तारीख दी है. केस की सुनवाई रोज हो रही है. अदालत ने पिछली सुनवाई पर अभियोजन की गवाही की प्रकिया समाप्त कर ली थी. इसके बाद अभियुक्तों को सीआरपीसी की धारा 313 के तहत गवाही के लिए बुलाया था. आज भाजपा नेता विनय कटियार, डा राम विलास वेदांती, पवन पांडेय, संतोष दुबे और गांधी यादव बयान के लिए पेश हुए लेकिन समय कम होने के कारण उनका बयान दर्ज नहीं किया जा सका. शेष अभियुक्तगों की ओर से हाजिरी माफी प्रार्थनापत्र आया, जिसे कोर्ट ने गुरूवार के लिए स्वीकार कर लिया. कोर्ट ने कहा कि पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणाी, भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी एवं उमा भारती की हाजिरी जरिये अधिवक्ता अग्रिम आदेश तक माफ है.



कोर्ट ने अपने आदेश में बचाव पक्ष केा निर्देश दिया कि धारा 313 सीआरपीसी के तहत बयान हो जाने के बाद अभियुक्तगणों केा सफाई साक्ष्य देना है तो उसे वे लिखित कथन के रूप में दाखिल करें, जिससे निर्धारित अवधि में विचारण की कार्यवाही पूरी की जा सके.
आडवाणी, कल्याण सहित 32 हैं आरोपी

बता दें बाबरी विध्वंस केस में लालकृष्ण आडवाणी, कल्याण सिंह, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत 32 आरोपी हैं. प्रत्येक आरोपी से पूछने के लिए एक हज़ार पचास सवाल तैयार किए गए हैं. इसी क्रम में गुरुवार को विजय बहादुर सिंह ने सवालों के जवाब दिए. प्रक्रिया के दौरान कोर्ट आरोपियों को सफाई पेश करने का मौका देगी. कोर्ट आरोपियों से खुली कोर्ट में उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों के सम्बंध में प्रश्न पूछेगी और आरोपी उसका जवाब देगा और अपना पक्ष रखेगा. इसी बयान में आरोपी को अगर अपने पक्ष में सफाई देनी है तो बताएगा और कोर्ट उसे सफाई के गवाह पेश करने का मौका देगी.

सीबीआई के 354 गवाहों की पूरी हो चुकी है गवाही

बता दें केस में सीबीआई के 354 गवाहों की गवाही खत्म हो चुकी है. 6 दिसंबर 1992 को रामजन्म भूमि थाने में एफआईआर हुई थी. सीबीआई ने 49 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी. इनमें से बाल ठाकरे, अशोक सिंघल, गिरिराज किशोर समेत 17 आरोपियों की मौत हो चुकी है. 32 आरोपियों के खिलाफ सुनवाई चल रही है. मामले में सीबीआई स्पेशल कोर्ट को इसी साल 31 अगस्त तक फैसला सुनाना है.

इनपुट: ऋषभ मणि त्रिपाठी

ये भी पढ़ें:

लॉकडाउन में फंसे UP में लगभग 7 लाख ड्राइविंग लाइसेंस के आवेदन, आवेदक परेशान

शिक्षामित्रों को जून महीने का मानदेय मिलेगा या नहीं? पढ़ें डीजी का इंटरव्यू
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading