बाबरी मस्जिद केस: इकबाल अंसारी ने CBI अदालत के फैसले का किया स्वागत, दिल्ली में सुरक्षा सख्त

उन्होंने कहा 'यह मुकदमा सीबीआई का है. आज अदालत ने इस पर फैसला कर दिया.  (फाइल फोटो)
उन्होंने कहा 'यह मुकदमा सीबीआई का है. आज अदालत ने इस पर फैसला कर दिया. (फाइल फोटो)

इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने मुसलमानों से अपील की कि वह उच्चतम न्यायालय के निर्णय की तरह विशेष अदालत के फैसले का भी सम्मान करें.

  • भाषा
  • Last Updated: September 30, 2020, 2:51 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. बाबरी मस्जिद मामले (Babri Masjid case) के मुद्दई रहे इकबाल अंसारी (Iqbal Ansari) ने विवादित ढांचा ढहाये जाने के प्रकरण में विशेष सीबीआई अदालत के फैसले का स्वागत (Welcome) किया है. उन्होंने अदालत के फैसले का स्वागत करते हुए बुधवार को मुसलमानों से अपील की कि वह उच्चतम न्यायालय के निर्णय की तरह विशेष अदालत के फैसले का भी सम्मान करें. अंसारी ने टेलीफोन पर न्यूज एजेंसी 'भाषा' से बातचीत में विशेष सीबीआई अदालत (CBI court) के फैसले के बारे में पूछे जाने पर कहा 'अच्छी बात है, सबको बरी कर दिया गया. वैसे जो कुछ भी होना था वह पिछले साल नौ नवम्बर को चुका है. यह मुकदमा भी उसी दिन खत्म हो जाना चाहिये था.'

उन्होंने कहा 'यह मुकदमा सीबीआई का है. आज अदालत ने इस पर फैसला कर दिया. हम मुसलमानों से अपील करते हैं कि वह इस मामले को आगे लेकर न जाएं. जैसे नौ नवम्बर के फैसले का सम्मान किया था, वैसे ही इसका भी करें.' अंसारी ने कहा 'हम चाहते हैं कि हमारे देश में हिन्दू- मुसलमान का विवाद न रहे. जो लोग देश को तोड़ना चाहते हैं, वे ही विवाद बनाये रखने की कोशिश करते हैं. अयोध्या में हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई में कोई मतभेद नहीं है. यही माहौल पूरे देश में होना चाहिये.'





अदालत ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया
गौरतलब है कि सीबीआई की विशेष अदालत ने छह दिसम्बर 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद ढहाए जाने के मामले में बुधवार को बहुप्रतीक्षित फैसला सुनाते हुए सभी आरोपियों को बरी कर दिया. विशेष सीबीआई अदालत के न्यायाधीश एस के यादव ने फैसला सुनाते हुए कहा कि बाबरी मस्जिद विध्वंस की घटना पूर्व नियोजित नहीं थी, यह एक आकस्मिक घटना थी. उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ कोई पुख्ता सुबूत नहीं मिले, बल्कि आरोपियों ने उन्मादी भीड़ को रोकने की कोशिश की थी. बता दें कि इस मामले में पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती समेत 32 लोगों को आरोपी बनाया गया था.

दिल्ली मे सुरक्षा सख्त
वहीं, दिल्ली पुलिस ने कहा कि बहुचर्चित बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में बुधवार को फैसले के मद्देनजर वह राष्ट्रीय राजधानी में कड़ी निगरानी रख रही है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा,‘‘ हम शहर भर में सुरक्षा की दृष्टि से नजर बनाए हुए हैं.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज