बाबरी ढांचा विध्वंस केस: आडवाणी, जोशी और उमा भारती की कोर्ट में होगी पेशी
Lucknow News in Hindi

बाबरी ढांचा विध्वंस केस: आडवाणी, जोशी और उमा भारती की कोर्ट में होगी पेशी
साढ़े तीन करोड़ की गड़बड़ी का मामला .( प्रतीकात्मक तस्वीर)

Babri Demolition Case: तीनों ही नेताओं को सीआरपीसी-313 के तहत बयान दर्ज करवाना है. कोर्ट ने इन नेताओं के पेश होने की तारीख अभी तय नहीं की है.

  • Share this:
लखनऊ. बाबरी मस्जिद विध्वंस (Babri Demolition Case) मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट (CBI Special Court) ने लाल कृष्ण अडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती को बयान दर्ज करवाने के लिए व्यक्तिगत तौर पर पेश होने का आदेश दिया है. तीनों ही नेताओं को सीआरपीसी-313 के तहत बयान दर्ज करवाना है. हालांकि, कोर्ट ने इन नेताओं के पेश होने की तारीख अभी तय नहीं की है.

सोमवार को मामले की सुनवाई कर रहे सीबीआई के विशेष जज सुरेंद्र कुमार यादव ने यह आदेश आडवाणी, जोशी और उमा भारती की ओर से अग्रिम आदेश तक हाजिरी माफ़ी प्रार्थना पत्र को स्वीकार करते हुए दिया. जस्टिस यादव ने कहा कि न्यायलय द्वारा अपेक्षा करने पर वे अदालत में उपस्थित होंगे. कोर्ट ने कहा कि वर्तमान में अभियुक्त का सीआरपीसी की धारा 313 के तहत बयान दर्ज किया जा रहा है. ऐसे में तीनों को निर्धारित तिथि पर कोर्ट को पेश होने का निर्देश दिया गया है.

आखिरी बार 26 मई 2017 को पेश हुए थे तीनों
दरअसल, वर्ष 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने तीनों व कुछ अन्य अभियुक्तों के खिलाफ ट्रायल का आदेश विशेष अदालत को दिया था. इसके बाद सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा सम्मन किये जाने पर आडवाणी, जोशी और उमा भारती कुछ अन्य अभियुक्तों के साथ 26 मई 2017 को विषेश अदालत में हाजिर हुए थे. उन्‍होंने अपनी जमानत करायी जिसके बाद कोर्ट ने उन पर आरेाप तय करने की कार्रवाई की. अब कोर्ट ने उनकी हाजिरी माफ़ी की याचिका स्वीकार करते हुए कहा है कि जब भी निर्देशित किया जाएगा. उन्हें कोर्ट में पेश होकर बयान दर्ज करवाने होंगे.
इन अभियुक्तों के भी दर्ज होने हैं बयान


सीबीआई के वकील ललित सिंह ने बताया कि सोमवार को अभियुक्त राम जी गुप्ता के बयान दर्ज किये गये. एक अन्य अभियुक्त प्रकाश शर्मा उपस्थित हुआ था, जबकि अन्य की तरफ से हाजिरी माफी की अर्जियां आयी थीं. कोर्ट मंगलवार को भी सुनवायी जारी रखेगी. मामले में कुल 32 अभियुक्तों का ट्रायल हो रहा है. अन्य 29 अभियुक्तों में तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, विनय कटियार, डॉ राम विलास वेदांती, मंहत नृत्य गोपाल दास, साध्वी रितम्भरा, बृज भूशण शरण सिंह, लल्लू सिंह, साक्षी महाराज भी शामिल हैं.

ये भी पढ़ें:

COVID-19: UP में कोरोना के 411 नए मामले, संक्रमितों को आंकड़ा पहुंचा 10947

69000 शिक्षक भर्ती मामले में आंदोलनरत छात्रों के साथ खड़ी है कांग्रेस: प्रियंका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज