यूपी के विधानसभा उपचुनाव में सभी 8 सीटों पर लड़ेगी BSP, जानें सियासी नजरिए क्‍यों अहम है ये इलेक्‍शन!

बहुजन समाज पार्टी के नेता इन आठ सीटों पर मजबूत प्रत्याशी उतारने की बात कह रहे हैं.
बहुजन समाज पार्टी के नेता इन आठ सीटों पर मजबूत प्रत्याशी उतारने की बात कह रहे हैं.

बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) उत्‍तर प्रदेश में 8 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में पूरे दमखम के साथ मैदान में उतरेगी. जबकि यह उपचुनाव भाजपा (BJP) के लिए लिटमस टेस्ट माना जा रहा है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश में बहुत जल्द 8 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव (Assembly by-election) की घोषणा होने वाली है. सत्ताधारी पार्टी हो या विपक्ष की पार्टियां सब इन उपचुनाव को लेकर सेंधमारी की तैयारी में जुट गई हैं. हालांकि इन उपचुनावों को मौजूदा सत्तापक्ष भाजपा (BJP) के लिए लिटमस टेस्ट माना जा रहा है, क्योंकि ये उपचुनाव जनता के रुख को भांप सकेंगे. जबकि विपक्ष में सपा के अलावा कांग्रेस और बसपा (BSP) की किला बन्दी भी तेजी से नजर आती है. हालांकि बहुजन समाज पार्टी पहले उपचुनाव नहीं लड़ती थी, लेकिन पिछले विधानसभा उपचुनावों को लड़ने की इच्छा जता कर साफ कर दिया है कि अब वो भी उपचुनावों में पूरे दमखम के साथ लड़ेगी.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने नहीं किया ऐलान, लेकिन...
हालांकि अभी तक बसपा सुप्रीमो मायावती ने इन चुनावों को लड़ने का औपचारिक ऐलान नहीं किया है, लेकिन बेहतर प्रत्याशियों की तलाश बसपा ने जरूर शुरू कर दी है. इस बार 8 विधानसभा सीटों के उपचुनावों मेंबहुजन समाज पार्टी अपनी किस्मत आजमाने को तैयार है. चूंकि राज्य में अभी सियासी समीकरण काफी हद तक बदल चुके हैं और ऐसे में बसपा अपना जनाधार बचाने में लगी है, जिसके चलते वह उपचुनाव में भाग ले रही है.


यहां होने हैं उपचुनाव


उत्‍तर प्रदेश में जिन 8 सीटों पर उपचुनाव होने हैं उनमें कानपुर के घाटमपुर, जौनपुर के मल्हनी, रामपुर के स्वार, बुलंदशहर के सदर, आगरा के टूंडला, देवरिया के देवरिया सदर, उन्नाव के बांगरमऊ और अमरोहा के नौगावां सादात विधानसभा क्षेत्र की सीटें हैं. इन आठ में से 6 पर भारतीय जनता पार्टी विधायक थे. जबकि 2 पर समाजवादी पार्टी ने जीत दर्ज की थी. चूंकि सियासी नजरिए से 8 सीटों की लड़ाई को काफी अहम माना जा सकता है, क्‍योंकि विधानसभा में विधायकों के नम्बर बढ़ जाएंगे. 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर भी इन आठ सीटों पर होने वाले उपचुनाव को सेमीफाइनल माना जा सकता है और इसके परिणाम को प्रदेश में एक बड़े राजनीतिक बदलाव के तैर पर देखा जाएगा.

बहुजन समाज पार्टी के नेता इन आठ सीटों पर मजबूत प्रत्याशी उतारने और पूरे दमखम के साथ चुनाव लड़ने की बात कह रहे हैं. हालांकि बसपा के लिए ये उपचुनाव बेहद मुश्किल साबित होगा. बसपा के साथ ही 2 सीट पर काबिज रहने वाली समाजवादी पार्टी और कांग्रेस भी अपने-अपने मजबूत प्रत्याशी उतारेगी. इसके अलावा पिछले काफी दिनों से प्रदेश भर में घूम घूम कर आम आदमी पार्टी भी इन उपचुनाव में अपनी जमीन को तलाशती नजर आ रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज