बलिया प्राइमरी स्कूल में छुआछूत: मायावती ने की मांग- सख्त कार्रवाई कर नजीर पेश करे सरकार

उत्तर प्रदेश में बलिया (Ballia) के रामपुर इलाके में स्थित एक प्राइमरी स्कूल में कुछ बच्चे अपने घरों से थालियां ला रहे हैं और एससी-एसटी बच्चों से अलग बैठकर मिडडे मील खा रहे हैं. इस घटना को बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने घटना को दुखद और शर्मनाक बताया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 29, 2019, 11:08 AM IST
बलिया प्राइमरी स्कूल में छुआछूत: मायावती ने की मांग- सख्त कार्रवाई कर नजीर पेश करे सरकार
बसपा सुप्रीमो मायावती ने बलिया के स्कूल में छुआछूत की घटना पर सख्त कार्रवाई की मांग की है.
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 29, 2019, 11:08 AM IST
उत्तर प्रदेश में बलिया (Ballia) के रामपुर इलाके में स्थित एक प्राइमरी स्कूल में बच्चों के अंदर छुआछूत (Untouchability) की प्रवृत्ति देखने को मिली है. स्कूल के कुछ बच्चे अपने घरों से थालियां ला रहे हैं और एससी-एसटी बच्चों से अलग बैठकर मिडडे मील खा रहे हैं. इस घटना को बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने घटना को दुखद और शर्मनाक बताया है. मायावती ने ट्वीट कर इस मामले में राज्य सरकार से सख्त कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है.

मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा है, ”यूपी के बलिया जिले के सरकारी स्कूल में दलित छात्रों को अलग बैठाकर भोजन कराने की खबर अति-दुःखद व अति-निन्दनीय. बीएसपी की माँग है कि ऐसे घिनौने जातिवादी भेदभाव के दोषियों के खिलाफ राज्य सरकार तुरन्त सख्त कानूनी कार्रवाई करे ताकि दूसरों को इससे सबक मिले व इसकी पुनरावृति न हो.“

maya tweet untouchability
बलिया के प्राइमरी स्कूल में छुआछूत के मामले को बसपा सुप्रीमो मायावती ने निंदनीय बताया है.


छोटे बच्चों में इस तरह की भावना चौंकाने वाली है. तस्वीरें सामने आने के बाद स्कूल के प्रधानाचार्य का कहना है कि कुछ बच्चे समझाने के बावजूद ऐसा कर रहे हैं. अलग थाली में अन्य बच्चों से दूर बैठकर खाना खाने के सवाल पर एक बच्चे ने कहा कि कोई भी स्कूल की थालियों में खाना खा लेता है. इसलिए हम घर अपनी थाली लेकर आते हैं. मामले में प्रधानाचार्य पी गुप्ता ने बताया कि हम बच्चों को एक साथ बैठने और खाने को कहते हैं, लेकिन हमारे हटते ही बच्चे दूर चले जाते हैं. हो सकता है ऐसा उनके घरों में बताया गया हो. हमने छात्रों को बहुत समझाने की कोशिश की कि सभी एक समान हैं, लेकिन अपर कास्ट के बच्चे हमेशा कोशिश करते हैं कि वे लोअर कास्ट के बच्चों से दूर रहें.

आखिर कौन घोल रहा है जहर
समाज में छुआछूत और असमानता की ऐसी तस्वीर चौंकाने वाली है. लिहाजा सवाल भी उठाना लाजमी है. आखिर इन नौनिहालों में ऐसी कुरीतियों का जहर कौन घोल रहा है? जिस उम्र में बच्चे पढ़ाई और खेल की अलावा कुछ नहीं सोचते उनके दिमाग में छुआछूत व ऊंच-नीच की बात कौन बैठा रहा है. मामला गंभीर है. लिहाजा टीचर्स से लेकर पेरेंट्स तक को जागरूक करने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें:
Loading...

बलिया: स्कूल में छुआछूत की वजह से अलग खाना खा रहे बच्चे

अब बलिया में बच्चों को पत्ते पर दिया गया मिड डे मील!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2019, 11:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...