बलरामपुर: AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष समेत 80 लोगों के खिलाफ केस दर्ज, ये है पूरा मामला

प्रेस कॉन्फ्रेंस में AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष हाजी शौकत अली भी मौजूद थे.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष हाजी शौकत अली भी मौजूद थे.

सब इंस्पेक्टर उमेश सिंह (Sub Inspector Umesh Singh) ने पुलिस को दी गई अपनी तहरीर में लिखा है कि जब वह गस्त के दौरान अपने क्षेत्र में भ्रमण कर रहे थे तभी डुमरियागंज रोड पर स्थिति एक होटल में भारी भीड़ इकट्ठी देखी गई.

  • Share this:

बलरामपुर. उत्तर प्रेश के बलरामपुर (Balrampur) में बिना अनुमति सम्मेलन करने तथा धारा 144 और कोविड-19 के प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के मामले में AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष हाजी शौकत अली (Haji Shaukat Ali) समेत कई लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. जानकारी के मुताबिक, नामजद 6 लोगों के साथ-साथ 70 से 80 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज (Case Filed) किया गया है. सब इंस्पेक्टर उमेश सिंह की तहरीर पर कोतवाली उतरौला में मुकदमा दर्ज किया गया है. नामजद लोगों में पीस पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और उतरौला विधानसभा क्षेत्र से AIMIM के घोषित प्रत्याशी डॉक्टर अब्दुल मन्नान भी शामिल हैं.

रविवार को उतरौला कोतवाली क्षेत्र के डुमरियागंज रोड पर स्थित एक होटल में AIMIM की ओर से एक सम्मेलन का आयोजन किया गया था. इस सम्मेलन में AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष हाजी शौकत अली के द्वारा एक प्रेस वार्ता का भी आयोजन किया गया था. पीस पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर अब्दुल मन्नान को उतरौला विधानसभा क्षेत्र से AIMIM का प्रत्याशी घोषित करने के लिए यह सम्मेलन आयोजित किया गया था. कोतवाली उतरौला में तैनात सब इंस्पेक्टर उमेश सिंह ने पुलिस को दी गई अपनी तहरीर में लिखा है कि जब वह गस्त के दौरान अपने क्षेत्र में भ्रमण कर रहे थे तभी डुमरियागंज रोड पर स्थिति एक होटल में भारी भीड़ इकट्ठी देखी गई. पूछने पर पता चला कि उतरौला विधानसभा क्षेत्र से AIMIM के घोषित प्रत्याशी डॉक्टर अब्दुल मन्नान द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है. इसमें AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष हाजी शौकत अली भी मौजूद थे.

70-80 लोगों की भीड़ भी इकठ्ठी थी

इसके अतिरिक्त वहां 70-80 लोगों की भीड़ भी इकठ्ठी थी. यह भीड़ बिना किसी अनुमति के इकट्ठी की गयी थी. भीड़ में लोगों ने मास्क भी नहीं लगा रखा था और बिना उचित दूरी बनाए AIMIM पार्टी के सम्मेलन में शामिल थे. इस लापरवाही से कोरोना महामारी फैलने की प्रबल संभावना है. वर्तमान में धारा 144 भी लागू है जिसका इस सम्मेलन के माध्यम से उल्लंघन किया जा रहा था. बिना अनुमति के सम्मेलन करने और धारा 144 तथा कोविड-19 के प्रोटोकॉल के उल्लंघन की सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी उतरौला राधारमण सिंह ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए मुकदमा लिखे जाने का आदेश दिया.
कोतवाली उतरौला में मुकदमा दर्ज कराया गया है

हालांकि, सब इंस्पेक्टर उमेश सिंह की तहरीर पर उतरौला विधानसभा क्षेत्र से AIMIM के घोषित प्रत्याशी डॉक्टर अब्दुल मन्नान, AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष हाजी शौकत अली,  उतरौला नगर के अध्यक्ष नूरुद्दीन, कार्यकर्ता मोहम्मद इरफान, मोहम्मद शाहिद तथा निजी होटल के मैनेजर मुजीब खान के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया. इसके अतिरिक्त 70-80 अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ भी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है. इन लोगों पर आपदा प्रबंधन अधिनियम और महामारी अधिनियम जैसी गंभीर धाराएं भी लगाई गई हैं. एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया की पत्रकार वार्ता के नाम पर निजी होटल में एक पार्टी के द्वारा सम्मेलन का आयोजन किया गया था. इस सम्मेलन में भारी भीड़ इकट्ठा थी. लेकिन इस सम्मेलन की कोई अनुमति नहीं ली गई थी. भीड़ में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन भी नहीं किया जा रहा था. इस मामले की गंभीरता को संज्ञान में लेते हुए कोतवाली उतरौला में मुकदमा दर्ज कराया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज