बलरामपुर गैंगरेप कांड : परिजनों से मिले अपर मुख्य सचिव, बड़ी कार्रवाई के दिए संकेत

बलरामपुर गैंगरेप केस में पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने पहुंचे अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी.
बलरामपुर गैंगरेप केस में पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने पहुंचे अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी.

Balrampur gang rape case:अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने यह भी कहा कि इस केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगी और यदि आवश्यक हुआ तो रासुका भी लगाई जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2020, 6:51 PM IST
  • Share this:
बलरामपुर. बलरामपुर गैंगरेप कांड (Balrampur gang rape case) की पीड़िता के परिजनों से मिलने के बाद अपर मुख्य सचिव गृह (Additional Chief Secretary) अवनीश अवस्थी (Avneesh Awasthi) ने बड़ी कार्रवाई के संकेत दिए हैं. पीड़िता के परिजनों से हुई बातचीत के बाद अवनीश अवस्थी ने बताया कि यह घटना बहुत ही दुखद है. उन्होंने कहा कि जो भी आरोपी बच गए हैं, उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि गैंगरेप कांड का कोई भी आरोपी बचने नहीं पाएगा. अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने यह भी कहा कि इस केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगी और यदि आवश्यक हुआ तो रासुका भी लगाई जाएगी. उन्होंने कहा कि प्रशासन पीड़ित परिवार से लगातार संवाद बनाकर रखेगा.

हरसंभव मदद का आश्वासन

पीड़िता के परिजनों से मिलने के लिए अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार हेलिकॉप्टर से तुलसीपुर के भवनियापुर हेलीपैड पहुंचे. वहां से दोनों अधिकारी सीधे तुलसीपुर चीनी मिल के गेस्ट हाउस में जाकर डीआईजी राकेश सिंह, डीएम कृष्णा करुणेश और एसपी देवरंजन वर्मा के साथ इस मामले में गहन मंत्रणा की और अब तक की गई कार्रवाई की जानकारी ली. इसके बाद दोनों अधिकारी गैसड़ी कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत पीड़िता के परिजनों से मिलने मझौली गांव पहुंचे. पीड़िता के परिजनों से मिलने के बाद मीडिया से बात करते हुए एसीएस और एडीजी ने पीड़िता के परिवार को हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया और बताया कि शासन और प्रशासन पीड़िता के परिजनों के साथ खड़े हैं.



उच्च स्तर पर इस केस की निगरानी का वादा
एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने कहा कि इस घटना में बालिका के साथ बहुत ही बर्बर और नृशंस व्यवहार किया गया है, जो पोस्टमार्टम रिपोर्ट से परिलक्षित है. घटना को लेकर शासन बहुत गंभीर है और उच्च स्तर पर इसकी निगरानी की जा रही है. गौरतलब है कि 29 सितंबर को कॉलेज में एडमिशन फीस जमा कर वापस लौट रही छात्रा का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया. इस दौरान छात्रा की हालत बिगड़ने पर उसे बेहोशी की हालत में रिक्शे पर बैठा कर उसके घर भेज दिया गया. पीड़िता की हालत देख परिजन उसे अस्पताल लेकर भागे. लेकिन अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई. इस घटना के बाद से शासन और प्रशासन में हड़कंप मच गया. गैसड़ी कोतवाली क्षेत्र के कस्बा में हुई इस वीभत्स वारदात के बाद परिजनों की तहरीर पर केस दर्ज किया गया और पुलिस अब तक चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है, जबकि कुछ अन्य लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज